महिलाओं की तरफ हाथ उठाने वाले की उंगलियां काट ली जाएंगी: सीएम मनोहर लाल खट्टर

| Last Updated:

नई दिल्ली:

हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर के एक बयान को लेकर चारों ओर विवाद हो रहा है। खट्टर ने कहा कि अगर कोई भी व्यक्ति महिलाओं के खिलाफ उंगली भी उठाता है तो उसकी उंगलियां काट ली जाएंगी।

खट्टर ने एक सुधार परियोजना का उद्घाटन करते हुए कहा,' हम ऐसी कानून व्यवस्था का प्रबंध करेंगे कि अगर कोई हमारे यहां किसी बहन-बेटी की तरफ उंगली भी उठाए तो उसकी उंगलियां काट दी जाएंगी।'

अपने इस बयान को लेकर खट्टर को काफी आलोचना झेलनी पड़ी जिसके बाद उन्होंने सफाई देते हुए कहा कि उनके बयान का गलत मतलब निकाला गया है।

और पढ़ें: पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज शरीफ और मरियम अबुधाबी एयरपोर्ट पर होंगे गिरफ्तार, लंदन में मिली फेयरवेल पार्टी

उन्होंने कहा,' देखिए कहने का भाव बस इतना था कि हम आरोपियों को सख्त से सख्त सजा देंगे। हमारा ऐसा कोई भी बर्बरता भरा और क्रूर नियम लाने का मकसद नहीं था।'

खट्टर ने यह भी कहा कि रेप और छेड़छाड़ से जुड़े मामलों के आरोपियों को राज्य सरकार किसी भी प्रकार की सुविधाएं नहीं देंगी। हालांकि उन्होंने बाद में यह भी कहा कि अगर आरोपी सभी आरोपों से बरी हो जाता है तो वह अन्य सुविधाओं का उपभोग कर सकता है।

मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि यदि रेप पीड़िता केस की सुनवाई के दौरान राज्य सरकार की ओर से मुहैया कराए गए वकील के अलावा किसी और अधिवक्ता को चुनना चाहे तो सरकार उसे 22,000 रु तक की वित्तीय सहायता प्रदान करेगी।

खट्टर ने कहा कि वो महिलाओं की सुरक्षा और सशक्तिकरण से जुड़ी योजना का उद्धाटन स्वतंत्रता दिवस अथवा रक्षा बंधन के मौके पर करेंगे।

और पढ़ें: मथुरा में बन रहे दुनिया के सबसे ऊंचे मंदिर के निर्माण पर NGT ने ISCON से मांगा जबाव

First Published: