अमेरिका में पर्रिकर, गोवा में घमासान, कांग्रेस ने की राज्य में राष्ट्रपति शासन की मांग

| Last Updated:

पण्जी:

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर और राज्य के दो और मंत्रियों के बीमार पड़ने को लेकर कांग्रेस पार्टी ने राज्यपाल मृदुला सिन्हा से मांग की है कि राज्य में सरकार को बर्खास्त किया जाय। गोवा में कांग्रेस के नेता रमाकांत खलप ने मांग की है, 'गोवा सरकार को बर्खाश्त किया जाय और राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू किया जाय।' उन्होंने कहा कि पिछले 6 महीने से राज्य में प्रशासन उथल-पुथल की स्थित में है। कांग्रेस का आरोप है कि राज्य में पिछले कुछ महीनों से प्रशासकीय काम-काज बिल्कुल ठप है।

रमाकांत खलप ने कहा, 'मुख्यमंत्री के बीमार पड़ने के बाद दो और मंत्री बीमार पड़ गए। हम उन सब के बेहतर स्वास्थ्य के लिए प्रार्थना करते हैं लेकिन हम ऐसे व्यर्थ नहीं बैठ सकते और गोवा के लोगों असहाय नहीं देख सकते हैं। राज्यपाल को इसमें हस्तक्षेप करना चाहिए।'

बता दें कि गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर अग्नाशय कैंसर के इलाज के लिए 29 अगस्त को मुंबई से अमेरिका के लिए रवाना हुए थे। पर्रिकर के करीबी सूत्रों ने कहा था कि उनके एक सप्ताह में वापस आने की उम्मीद है।

सूत्रों के मुताबिक, पर्रिकर सहित 12 कैबिनेट मंत्रियों में से चार गंभीर बीमारियों से पीड़ित हैं, जिसके चलते वे पूरी क्षमता के साथ अपने आधिकारिक कर्तव्यों का निर्वहन नहीं कर पा रहे हैं।

पार्रिकर की अनुपस्थिति में बीते सप्ताह 'वैकल्पिक व्यवस्था' को लेकर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के साथ-साथ गठबंधन के सहयोगियों में भी रैंक के आधार पर भ्रम की स्थिति है।

और पढ़ें : शिवराज सिंह चौहान ने कहा, कांग्रेस मेरे खून की प्यासी हो गई है, मध्य प्रदेश में ऐसा कभी नहीं हुआ

बाद में मुख्यमंत्री कार्यालय को एक बयान जारी करने के लिए मजबूर होना पड़ा कि पार्रिकर खुद अमेरिका से गठबंधन सरकार के कामकाज की देखरेख करेंगे।

First Published: