उत्तराखंड में चीन की दादागिरी, अगस्त महीने में तीसरी बार भारतीय क्षेत्र में घुसे सैनिक

| Last Updated:

नई दिल्ली:

डोकलाम गतिरोध के बाद चीनी सेना द्वारा एक बार फिर से भारतीय सीमा में घुसपैठ की घटना सामने आ रही है। उत्तराखंड के बाराहोती में चीनी सेना 4 किलोमीटर अंदर तक घुस आयी थी। बताया जा रहा है कि सिर्फ अगस्त महीने में चीन की सेना पीपल्स लिबरेशन आर्मी ने सेंट्रल सेक्टर में वास्तविक नियंत्रण रेखा (Line of Actual Control- LAC) को तीन बार पार किया है।

ITBP सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक चीनी सेना ने 6 अगस्त, 14 अगस्त और 15 अगस्त को चीन के सैनिक और उनके नागरिको ने बाराहोती के रिमखिम पोस्ट के नज़दीक घुसपैठ की। बताया जा रहा है कि चीनी सेना 400 मीटर से लेकर 3.5 किलोमीटर तक अंदर घुस गए।

The People's Liberation Army(Chinese Army) transgressed the Line of Actual Control (LAC) three times in August towards the central sector, Uttarakhand in Barahoti where the transgression was 4 kms deep: Sources pic.twitter.com/HMa2It5yS2

— ANI (@ANI) September 12, 2018

गौरतलब है कि जुलाई- 2017 में चीन की तरफ से भारतीय सीमा में घुसने का प्रयास किया गया था। उस दौरान चीनी सैनिक बाराहोटी में भारतीय क्षेत्र में एक किलोमीटर अंदर तक पहुंच गए थे।

2013 और 2014 में इस क्षेत्र में चीनी सैनिकों की घुसपैठ के साथ-साथ हवाई गश्त की भी खबरें सामने आई थी। लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) से जुड़े अपराधों पर जनरल कमांडर कमांडिंग-इन-चीफ (जीओसी) उत्तरी कमान, लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने इस साल के शुरुआत में कहा था कि ऐसी घटनाएं उन क्षेत्रों में होती हैं जहां हमारे पास वास्तविक नियंत्रण रेखा की अलग धारणा है, इन क्षेत्रों में भारत और चीन के पास अच्छी तरह से स्थापित तंत्र हैं।

LAC भारत और चीन के बीच 4,057 किलोमीटर की सीमा है जहां ग्लेशियर्स, बर्फ के रेगिस्तान, पहाड़ों और नदियां हैं। पिछले साल सिक्किम और भूटान की सीमा पर डोकलाम में भी चीनी सैनिकों ने कई महीनों तक डेरा जमाए रखा था।

और पढ़ें- वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ बोले, भारतीय सीमा की सुरक्षा के लिए राफेल विमान की खरीदारी ज़रूरी

इस पर भारत ने विरोध जताया था और करीब 70 दिनों तक दोनों देशों के सैनिक आमने-सामने थे

First Published: