मंत्रिमंडल ने इथेनॉल की कीमत में 5 रुपये की वृद्धि को मंजूरी दी

| Last Updated:

नई दिल्ली:

आर्थिक मामलों की संसदीय समिति (सीसीईए) ने बुधवार को तेल विपणन कंपनियों (ओएमसीज) द्वारा खरीद की जानेवाली एथनाॅल की कीमत में पांच रुपये की वृद्धि को मंजूरी दे दी, जिससे बी भारी शीरा/आंशिक गन्ना रस से बने इथेनॉल की कीमत 47.13 रुपये प्रति लीटर से बढ़कर 52.43 रुपये प्रति लीटर हो जाएगी। मंत्रिमंडल की बैठक के बाद पेट्रोलियम मंत्री धर्मेद्र प्रधान ने संवाददाताओं को बताया कि सीसीईए ने इसके अलावा एथनाॅल उत्पादन के लिए 100 फीसदी गन्ना रस देने वाली और चीनी बनाने का कार्य नहीं करने वाली मिलों के लिए 100 फीसदी गन्ना रस से तैयार एथनाॅल का मिल मूल्य 59.13 रुपये प्रति लीटर (वर्तमान मूल्य 47.13 रुपये प्रति लीटर) तय किया है।

पेट्रोलियम मंत्रालय द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि ये कीमतें साल 2018 के दिसंबर से 2019 के नवंबर तक की पेराई अवधि के लिए वैध होंगी। 

बयान में कहा गया है, 'मंत्रिमंडल ने बी भारी शीरा/आंशिक गन्ना रस से निकाले गए एथनाॅल की मिल कीमत 52.43 रुपये प्रति लीटर निर्धारित (वर्तमान मूल्य 47.13 रुपये प्रति लीटर) करने और एथनाॅल उत्पादन के लिए 100 प्रतिशत गन्ना रस देने वाली और चीनी बनाने का कार्य नहीं करने वाली मिलों के लिए 100 प्रतिशत गन्ना रस से तैयार एथनाॅल का मिल मूल्य 59.13 रुपये प्रति लीटर (वर्तमान मूल्य 47.13 रुपए प्रति लीटर) तय करने को मंजूरी दी है।'

बयान में आगे कहा गया है कि इसके अतिरिक्त जीएसटी तथा परिवहन शुल्क देय होंगे। तेल विपणन कंपनियों (ओएमसीज) को वास्तविक परिवहन शुल्क निर्धारित करने की सलाह दी गई है, ताकि लंबी दूरी के इथेनॉल का परिवहन कार्य हतोत्साहित न हो।

First Published: