सनातन संस्था से जुड़े वैभव राउत समेत 4 आरोपी 3 सितम्बर तक ATS हिरासत में, विस्फोट की साज़िश का आरोप

| Last Updated:

नई दिल्ली:

वैभव राउत और श्रीकांत पनगरकर समेत सभी 4 आरोपियों को 3 सितम्बर तक के लिए एटीएस की हिरासत में भेजा गया है। बता दें कि वैभव राउत सनातन संस्था से जुड़े हैं और श्रीकांत पनगरकर शिवसेना के पूर्व कॉरपोरेटर हैं। इन्हें 12 अगस्त को मुंबई से सटे नालासोपारा से गिरफ़्तार किया गया था।

#Mumbai: All four accused including Vaibhav Raut and Shrikant Pangarkar have been sent to ATS custody till September 3 in terror conspiracy case pic.twitter.com/BB3mpKZIRn

— ANI (@ANI) August 28, 2018

महाराष्ट्र एंटी टेररिज्म स्क्वॉड (एटीएस) ने वैभव राउत और श्रीकांत पनगरकर समेत 2 अन्य लोगों को भी गिरफ़्तार किया था। इन सभी लोगों पर कथित रूप से राज्‍य के अलग-अलग हिस्सों में विस्फोट की साज़िश रचने का आरोप है।

गिरफ्तारी के बाद मीडिया से बात करते हुए एटीएस अधिकारी ने कहा, 'एटीएस ने राउत के घर से बड़ी मात्रा में विस्फोटक सामग्री जब्त की थी। छापेमारी में मैगजीन के साथ 11 देसी तमंचे, एक एयरगन, पिस्तौल की दस नली, छह पिस्तौल मैगजीन, आंशिक रूप से बनी छह पिस्तौल, आंशिक रूप से बनी तीन मैगजीन और हथियार के कई भाग जब्त किए गए।'

और पढ़ें- भीमा कोरेगांव हिंसा: PM मोदी की हत्या की साजिश रचने को लेकर वामपंथी विचारकों के ठिकानों पर छापे

आपको बता दें कि वैभव राउत एक सक्रिय गो रक्षक हैं और हिंदु गोवंश रक्षा समिती में सक्रिय हैं। सभी हिन्दू संगठनों को एकत्रित करने और आंदोलन में शामिल होते रहे हैं लेकिन पिछले कुछ महीनो से वो सक्रिय नहीं थे।

First Published: