गुजरात : बिटकॉइन मामले में 7 पुलिसकर्मियों को पुलिस रिमांड

| Last Updated:

अहमदाबाद:

गुजरात के अहमदाबाद में एक सत्र अदालत ने गुरुवार को क्रिप्टो-करेंसी बिटकॉइन वसूली मामले में सात हवलदारों को चार दिन की पुलिस रिमांड पर लेने की अनुमति दे दी। अहमदाबाद सीआईडी ने सत्र अदालत के न्यायाधीश के समक्ष सभी सात पुलिस हवलदारों को पेश किया। पुलिस ने पुलिसकर्मियों के लिए आठ दिन की रिमांड मांगी थी, लेकिन न्यायाधीश ने उन्हें चार दिन की अनुमति दी। 

इस घोटाले का पता तब लगा, जब एक आदमी शैलेश भट्ट ने वसूली की शिकायत दर्ज कराई थी, जिसमें बिटकॉइन के रूप में भारी राशि वसूल करने का आरोप लगाया था। यह वसूली अमरेली पुलिस और कई अन्य लोगों द्वारा की गई थी। 

और पढ़ें- केंद्र सरकार ने ग्रामीण महिलाओं को सशक्त बनाने की नई योजना को दी मंजूरी, राज्यसभा में दी जानकारी

इस मामले की जांच सीआईडी क्राइम ब्रांच को दी गई। जांच के बाद कई लोगों को गिरफ्तार किया गया, जिसमें कई पुलिसकर्मियों और यहां तक कि अमरेली पुलिस अधीक्षक को भी गिरफ्तार किया गया। 

यह मामला तब हाई प्रोफाइल बन गया, जब इस मामले में भाजपा के पूर्व विधायक नलिन कोटडिया के होने का पता चला। पुलिस ने कोटडिया को फरार घोषित किया है। 

और पढ़ें- जीत के बाद बोले इमरान खान - अगर भारत तैयार तो पाकिस्तान दोस्ती और कश्मीर समाधान के लिए तैयार

 

First Published: