गोवा के पर्यटन मंत्री ने उत्तर भारतीय पर्यटकों को बताया 'धरती की गंदगी'

| Last Updated:

नई दिल्ली :

गोवा के पर्यटन मंत्री अपने विवादित बयान को लेकर सुर्ख़ियों में छाये हुए है। उत्तर भारतीय पर्यटकों पर विवादित बोल बोलते हुए पर्यटक मंत्री ने उन्हें 'धरती की गंदगी' बताया। 

गोवा के बिज़ फेस्ट में उन्होंने कहा, 'उत्तर भारतीय पर्यटक गोवा को हरियाणा बनाना चाहते है। गोवा कि आबादी पर्यटकों के रूप में 6 गुना है और यह पर्यटक गंदगी है।'

पर्यटन मंत्री ने उत्तरी भारत पर्यटकों को गंदगी बताते हुए कहा कि वह गोवा को दूसरा गुरुग्राम नहीं बनाना चाहते है। इतना ही नहीं बल्कि उन्होंने राज्य में बढ़ रही समस्या का ठीकरा भी उत्तर भारतीय के सर फोड़ा है।

उन्होंने कहा , 'गोवा में आज जो भी समस्या है उसके लिए उत्तर भारतीय राज्य जिम्मेदार हैं। यह लोग गोवा को हरयाणा बनाना चाहते है।'

और पढ़ें: मालदीव संकट: दो भारतीय पत्रकार गिरफ्तार, इमरजेंसी पर कर रहे थे रिपोर्टिंग

आगे उन्होंने कहा, 'क्या वे जिम्मेदार हैं? क्या वे सचेत हैं? वो नहीं हैं। यदि आप भारत के बाकी हिस्सों की तुलना करें, हम प्रति व्यक्ति आय, सामाजिक और राजनीतिक चेतना, स्वास्थ्य मानदंडों और कई अन्य मानदंडों में बहुत आगे हैं। तो, हम उन लोगों की तुलना में बहुत बेहतर हैं जो यहां आ रहे हैं।

उन्होंने कहा कि उत्तर भारतीय पर्यटक राज्य में स्वच्छता के मुद्दे को मुश्किल बना रहे हैं।

गोवा हर साल 60 लाख से अधिक पर्यटकों को आकर्षित करता है, इसकी आबादी लगभग 1.6 मिलियन है। सरदेसाई ने कहा, 'हम उत्तर भारतीयों पर निर्भर हैं और इसलिए वे ऐसा करते है। वह गोवा में एक हरियाणा को फिर से बनाना चाहते हैं।'

और पढ़ें: अयोध्या विवाद: AIMPLB ने ठुकराया नदवी का प्रस्ताव, कहा- SC का फैसला होगा सर्वमान्य

 

 

First Published: