गोवा में बीफ व्यापारी अनिश्चित हड़ताल पर, राज्य में सभी दुकानें बंद

| Last Updated:

पणजी:

गोवा में बीफ व्यापारियों ने शनिवार को हड़ताल वापस करने से मना कर दिया और बीजेपी के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार से मांग की है कि रक्षक समूहों पर कार्रवाई करें जो पड़ोसी राज्यो से बीफ लाने पर नुकसान पहुंचा रहे हैं।

गोवा मीट व्यापार संगठन रक्षक समूहों के बढ़ती सक्रियता के खिलाफ शनिवार से हड़ताल पर जाने का फैसला किया था।

संगठन का कहना है कि इन समूहों निगराणी से व्यापार में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। जब तक सरकार की तरफ से आश्वासन नहीं दिया जाएगा, हड़ताल जारी रहेगा।

गोवा के कुरैशी मीट व्यापार संगठन के अध्यक्ष मन्ना बेपारी ने कहा, मुख्यमंत्री की तरफ से आश्वासन दिया गया है कि दो दिनों के अंदर मामले को सुलझा दिया जाएगा।

बेपारी ने कहा, 'जब तक सरकार इस समस्या का समाधान नहीं करती है, हम बीफ नहीं बेचेंगे। हम मुख्यमंत्री से मिलने गए लेकिन वो गोवा में नहीं हैं।'

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कार्यालय के द्वारा हमें आश्वासन दिया गया कि दो दिनों के अंदर सभी स्टेकहोल्डर की बैठक बुलाई जाएगी और इस मुद्दे को सुलझा दिया जाएगा।

शनिवार को पूरे गोवा में किसी बूचड़खाने और मीट दुकानों ने बीफ को नहीं बेचा, इससे मटन जो कि 500 रुपये प्रति किलो बेची जा रही थी, 30 रुपये मंहगी बेची गई।

और पढ़ें: Exclusive: ट्रिपल तलाक बिल सोनिया के लिए 'पाप' धोने का था मौका

First Published: