इन 5 भारतीय स्ट्रीट फूड का सेवन करते समय रखें सावधानी

| Last Updated:

नई दिल्ली:

स्ट्रीट फूड्स अधिकांश लोग बड़े चाव के साथ खाते हैं, लेकिन इनके सेवन से अपच होने, पेट में गैस बनने या अन्य बीमारियां होने का खतरा बना रहता है। विशेषज्ञों का कहना है कि गर्मियों के मौसम में और मानसून में मसालेदार, तैलीय भोजन खाना उपयुक्त होता है।

स्ट्रीट फूड के सेवन के दौरान बरती जाने वाली सावधानियों का ध्यान रखेंगे तो ये आपको बीमार पड़ने से बचा लेंगी।

इसे भी पढ़ें: Yearender 2017: ऑनलाइन मंगवाने वाले खाद्य पदार्थो में चिकन बिरयानी अव्वल

छोले-भटूरे

बरसात के दौरान नमी के कारण खमीर वाले भोज्य पदार्थ जैसे छोले-भटूरे में फफूंद लग जाने की संभावना ज्यादा होती है, इसलिए इस तरह के भोजन को खाने के दौरान एहतियात बरतें, सामान्य रूप से बरसात का मौसम मसालेदार और तैलीय भोजन के सेवन के लिए अच्छा माना जाता है।

बर्फ को गोले

अगर कुल्फी और बर्फ को गोले साफ-सफाई के साथ तैयार नहीं हुए हैं तो इन्हें खाने से भी आपको पेट संबंधित समस्या हो सकती है। दूषित पानी से पेट या आंत में जलन, डायरिया और टायफाइड व कॉलरा जैसी गंभीर बीमारियां हो सकती हैं। बारिश के गंदे पानी भरे सड़क पर जाने से गंदे पानी के छीटें कपड़ों, हाथ और पैरों पड़ने के कारण इस तरह की बीमारियां होने की संभावना बढ़ जाती है।

समोसा और पकौड़ी

कई प्रकार के स्नैक्स मसले हुए आलू से बनाए जाते हैं, जो काफी देर तक खुले में रखे हुए हो सकते हैं, इन्हें खाने से बचें। समोसा और पकौड़ी जैसे स्नैक्स बनाने के दौरान ताजी खाद्य सामग्री नहीं इस्तेमाल नहीं होने से और ज्यादा देर तक रखा होने के कारण इन्हें खाने से आपके पेट में गैस बन सकती हैं, एसिडिटी की समस्या हो सकती है।

गोलगप्पा

स्ट्रीट फूड में खासकर आपके पसंदीदा गोलगप्पा में इस्तेमाल होने वाला मसाला पानी दूषित पानी से बना हो सकता है, जिससे आपको दूषित पानी से होने वाली बीमारियां जैसे कॉलरा, टायफाइड हो सकती है।

फलों के जूस

सड़क पर जो फलों के जूस बिकते हैं, हो सकता है कि वे काफी देर से खुले में रखे हों और वही बाद में आपको पीने के लिए दिए जाएं, जिससे आप बीमार पड़ सकते हैं और जिन गिलासों में इन्हें पीने के लिए दिया जाता है, उनके भी गंदे होने की संभावना रहती है।

First Published: