2020 तक दिल्‍ली हो जाएगी जाम मुक्‍त, सुप्रीम कोर्ट में पेश किया गया प्‍लान

| Last Updated:

नई दिल्‍ली:

सुप्रीम कोर्ट में दिल्‍ली पुलिस ने एक प्‍लान पेश किया है। इसमें बताया गया है कि 2020 तक दिल्‍ली को जाम मुक्‍त बनाने की योजना पर काम शुरू हो गया है। इसके तहत सड़कों को चौड़ा किया जाएगा, अतिक्रमण हटाया जाएगा, रुकावटें दूर की जाएंगी, एलिवेटेड रोड, फ्लाईओवर और फुटओवर ब्रिज बनाए जाएंगे।

दिल्‍ली पुलिस ने पेश किया हलफनामा

दिल्‍ली पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर शहर को जाम मुक्‍त बनाने का प्‍लान पेश किया है। पुलिस ने कोर्ट को बताया है कि सबसे पहले उसे 28 सबसे ज्यादा जाम वाले कॉरिडोर्स की समस्या हल करने का लक्ष्य तय किया है। दिसंबर 2020 तक इस प्रॉजेक्ट को पूरा कर लिया जाएगा। पुलिस का कहना है कि उसने डीडीए और नगर निकायों समेत सभी संबंधित एजेंसियों से बात करने के बाद यह टाइम लाइन पेश कि है।

बनी थी टास्‍क फोर्स

इससे पहले दिल्ली के उपराज्यपाल की ओर से गठित टास्क फोर्स ने शहर के 77 ऐसे इलाकों की पहचान की थी, जहां जाम की समस्या है। इन्हें तीन कैटेगरी में बांटा गया था। 28 भीषण जाम वाले इलाके, 30 जाम वाले इलाके और 19 मामूली जाम वाले इलाके।

और पढ़ें : स्‍टॉक मार्केट की निवेश पाठशाला 1 : घर बैठे करें निवेश, होती है मोटी कमाई

जानें, क्या है दिल्ली की स्पीड

दिल्ली की औसत ऑफ-पीक ट्रैफिक स्पीड 2010 से 2017 के बीच 9.1 फीसदी गिरकर 26 किमी प्रति घंटा हो गई है। यह एक हाथी की औसत गति से बहुत अधिक नहीं है, जो 25 किमी प्रति घंटा की स्पीड से चलता है।

और पढ़ें : स्‍टॉक मार्केट की निवेश पाठशाला-2, जानें अच्‍छा शेयर चुनने के 10 टिप्‍स

दिल्ली के बाद अन्य शहर भी होंगे जाम मुक्त

जाम से मुक्ति के लिए दिल्ली की ओर से उठाए गए कदमों का अनुसरण अन्य शहरों में भी किया जा सकता है। केंद्र सरकार के स्मार्ट सिटी प्रॉजेक्ट के तहत इंटेलिजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट भी है। इस स्कीम के तहत देश के 100 शहरों को कवर किया गया है।

First Published: