Asian Games 2018: 15 गोल्ड, 24 सिल्वर, 30 ब्रॉन्ज जीत कर भारत ने रचा इतिहास, जानिए किस खेल में कितने मेडल मिले

| Last Updated:

नई दिल्ली:

भारत ने यहां जारी 18वें एशियाई खेलों 14वें दिन शनिवार को दो और स्वर्ण पदक जीतकर अपने पदकों की कुल संख्या 69 तक पहुंचा दिया जो बीते सभी संस्करणों की तुलना में इस बार उसका सबसे अधिक पदक है। एशियाई खेलों का रविवार अंतिम दिन है लेकिन इस दिन की स्पर्धा में भारत की भागीदारी नहीं है। एशियाई खेलों में शनिवार को भारत का सफर खत्म हुआ।

भारत ने एशियाई खेलों के 18वें संस्करण में 15 स्वर्ण, 24 रजत और 30 कांस्य के साथ कुल 69 पदक जीते जबकि अपनी मेजबानी में 1951 में हुए पहले एशियाई खेल में भारतीय खिलाड़ियों ने 15 स्वर्ण, 16 रजत और 20 कांस्य के साथ कुल 51 पदक जीतकर तालिका में दूसरा स्थान हासिल किया था। आइए जानते हैं भारत ने किस खेल में कितने मेडल हासिल किए हैं..

पदकों की बात करें तो सबसे ज्यादा मेडल भारत को एथलेटिक्स में मिले हैं। एथलेटिक्स में भारत ने इस बार 7 गोल्ड, 20 सिल्वर और 30 ब्रॉन्ज के साथ कुल 19 पदक जीते हैं।एथलेटिक्स की कई स्पर्धाओं में भारतीय खिलाड़िय़ों का प्रदर्शन शानदार रहा और सभी ने देश का सम्मान बढ़ाया। भारत ने पुरुष 800 मीटर, पुरुष 1500 मीटर, पुरुष गोला फेंक, पुरुष भाला फेंक, पुरुषों के तिहरी कूद, महिलाओं की 4 गुणा 400 मीटर रिले, महिला हेप्टाथलान में स्वर्ण हासिल किए।

भारतीय निशानेबाजों ने भी शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए भारत को 9 पदक दिलवाए। निशानेबाजी में भारत ने 2 स्वर्ण, 4 रजत और 3 कांस्य पदक जीते। कुश्ती में बारत को तोड़ी निराशा जरूर हाथ लगी और इसमें केवल दो स्वर्ण और एक कांस्य पदक ही मिल पाया। इन सबके अलावा ब्रिज, नौकायन और टेनिस की विभिन्न स्पर्धाओं में भारत ने एक स्वर्ण और दो कांस्य के साथ कुल तीन-तीन पदक हासिल किए।

मुक्केबाजी की बात करें तो भारत की उम्मीदों पर खिलाड़ी इस खेल में उतने खड़े नहीं उतर पाए नतीजतन 1 गोल्ड और 1 कांस्य पदक ही मिला। एशियाई खेलों के 14वें दिन अमित पंघल ने भारत की तरफ से एकमात्र गोल्डन पंच लगाया।

भारत को तीरंदाजी और घुड़सवारी में दो-दो रजत पदक मिले। स्क्वॉश एकमात्र रजत और चार कांस्य पदक, सेलिंग मेंएक रजत और दो कांस्य पदक भारत की झोली में आए।

बैडमिंटन, हॉकी, कबड्डी और कुराश में भारत एक रजत, एक कांस्य के साथ कुल दो-दो पदक हासिल किए। टेबल टेनिस की विभिन्न स्पर्धाओं में भारतीय खिलाड़ियों ने संतोषजनक प्रदर्शन करते हुए दो कांस्य पदक हासिल किए।

भारतीय खिलाड़ियों ने एशियाई खेलों के 18वें संस्करण में दमदार प्रदर्शन करते हुए कुल 15 स्वर्ण पदक अपने नाम किए। यह इस महाद्वीपीय खेल महाकुम्भ में भारत का अब तक का सबसे अच्छा प्रदर्शन है। 1951 में भी भारत ने इतने ही स्वर्ण जीते थे। एशियाई खेलों का 18वां संस्करण भारत के लिए इसलिए भी यादगार रहेगा क्योंकि भारतीय खिलाड़ियों ने बीते सभी संस्करणों की तुलना में इस बार अपने लिए सबसे अधिक पदक हासिल किए।

कुल पदकों के मामले में भी भारत ने 2010 एशियाई खेलों की पीछे छोड़ दिया। चीन के ग्वांगझो में हुए 2010 एशियाई खेलों में भारत ने कुल 65 पदक जीते थे।

First Published: