Breaking
  • भीमा कोरेगांव हिंसा में आरोपी मिलिंद एकबोटे को पुणे सेशन कोर्ट ने दी जमानत
  • सुप्रीम कोर्ट की वेबसाइट हुई हैक, ब्राजील के हैकर्स पर संदेह
  • NIA स्पेशल कोर्ट के जस्टिस रविंद्र रेड्डी का इस्तीफा आंध्र प्रदेश और तेलंगाना HC ने किया नामंजूर
  • पठानकोट एयरबेस के पास दिखे तीन हथियारबंद संदिग्ध, सर्च ऑपरेशन जारी
  • जज लोया मौत मामलाः सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की स्वतंत्र जांच की मांग
  • पीएम मोदी ने लंदन में कहा, रेप तो रेप होता है, इसका राजनीतिकरण नहीं होना चाहिये: पढ़ें पूरी खबर -Read More »

अमेरिकी सीनेट ने पाक पर कसा शिकंजा, नए कानून के तहत आसानी से नहीं मिलेगा रक्षा फंड

  |   Updated On : July 15, 2017 01:17 PM

नई दिल्ली :  

पाकिस्तान को आतंक के खिलाफ लड़ाई के लिये अमेरिका से मिलने वाले फंड पर रोक लग सकती है। अमेरिकी नेशनल डिफेंस ऑथराइज़ेशन कानून में बदलाव के लिये सुझाए गए संशोधनों के पक्ष में वोटिंग की है।

अमेरिकी सांसद टेड पो ने नेशनल डिफेंस ऑथराइज़ेशन कानून में बदलाव के लिये दो संशोधनों का सुझाव दिया है।

पाकिस्तानी की आतंक के खिलाफ लड़ाई की संजीदगी को लेकर अमेरिका में सवाल उठते रहे हैं। अमेरिकी अधिकारी और कई सांसदों ने पाकिस्तान को दिये जा रहा फंड पर चिंता भी जताई है।

संशोधनों के पारित होने के बाद पाकिस्तान को कड़ी शर्तों के साथ ही फंड मिल सकेगा। साथ ही पाकिस्तान को यह साबित करना होगा कि वो आतंक के खिलाफ लड़ाई में क्या कार्रवाई कर रहा है।

इन संशोधनों के पक्ष में 344 वोट पड़ा जबकि इसके विरोध में 81 मत ही आए।

और पढ़ें: दिग्विजय सिंह ने पीएम मोदी पर बोला हमला, कहा- उन नेताओं के साथ क्या हुआ जिन्होंने उनका साथ दिया

संशोधनों को लागू किया जाने के बाद पेंटागन और अमेरिकी रक्षा से जुड़े दूसरे विभाग पाकिस्तान की आतंक के खिलाफ चल रहे अभियानों की समीक्षा करने के बाद हीं फंड जारी किये जाने को हरी झंडी देंगे।

टेड पो ने कहा, ' आज कांग्रेस अमेरिका को पाकिस्तान की तरफ से दिया जा रहे धोखे को खत्म करने की दिशा में एक कदम आगे बढ़े हैं।'

और पढ़ें: 'भागवत को आतंकियों की सूची में डालना चाहती थी यूपीए सरकार'

घाटी में आतंकियों और जवानों के बीच मुठभेड़, दो आतंकी ढेर

RELATED TAG: Pakistan, Anti Terror Funds, Us,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो