अमेरिका में भारत के साथ रक्षा सहयोग बढ़ाने के लिए बिल पारित, नए सिरे से बनेगी रणनीति

By   |  Updated On : July 15, 2017 12:09 PM
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और भात के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और भात के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

अमेरिकी संसद ने 621.5 डॉलर का रक्षा व्यय विधेयक पारित किया है। इस विधेयक में भारत के साथ अमेरिका के रक्षा सहयोग बढ़ाए जाने का प्रस्ताव रखा गया है।

भारतीय मूल के अमेरिकी सांसद अमी बेरा ने संसद में एक संशोधन पेश किया था, सदन ने इस संशोधन को धवनिमत से पारित कर दिया है। यह कानून आने वाले 1 अक्टूबर से लागू होगा।

सदन ने जो बिल पारित किया है उसके मुताबिक विदेश मंत्री के साथ सलाह करके रक्षा मंत्री भारत और अमेरिका के बीच रक्षा सहयोग बढ़ाने की रणनीति तैयार करेंगे।

और पढ़ें: चीन ने भारत के सामने रखी शर्त, कहा- डाकोला से सेना हटाने पर ही होगी बातचीत

बेरा ने इस दौरान कहा, 'अमेरिका पूरी दुनिया में सबसे पुरानी लोकतांत्रिक व्यवस्था है, भारत और अमेरिका के बीच रक्षा सहयोग बढ़ाने के लिए रणनीति पर काम होना चाहिए।'

बिल के पारित होने पर बेरा ने अमेरिकी संसद का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि अमेरिका और भारत के बीच सहयोग से दोनों देशों की अपनी सुरक्षा और भी मजबूत होगी।

और पढ़ें: डोकलाम पर ऐसा रुख अपनाएगा भारत चीन ने सोचा भी नहीं था

बता दें कि इस संशोधन के पारित होने के बाद अब इसे सीनेट में पारित किया जाना होगा, इसके बाद ही इसे राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के पास हस्ताक्षर के लिए भेजा जा सकता है।

इसके पारित होने के बाद फिलहाल विदेश मंत्री और रक्षा मंत्री के पास एक रणनीति बनाने के लिए 180 दिन का समय होगा।

डोकलाम पर ऐसा रुख अपनाएगा भारत चीन ने सोचा भी नहीं था
Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो