Breaking
  • पीएम नरेंद्र मोदी लंदन से जर्मनी पहुंचे, एंजेला मर्केल के साथ करेंगे डिनर
  • CBI ने विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को पोक्सो कोर्ट में किया पेश, सात दिन की बढ़ाई कस्टडी
  • IPL 2018 CSK Vs RR: राजस्थान रॉयल्स ने जीता टॉस, गेंदबाजी का फैसला
  • कश्मीरी युवक एनडीए एक्जाम पास करने के बाद हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल
  • महाभियोग से न्यायपालिका को डराने की कोशिश कर रही कांग्रेस
  • कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने जारी की उम्मीदवारों की तीसरी लिस्ट
  • कर्नाटक चुनाव: मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने चमुंदेश्वरी विधानसभा से नामांकन दाखिल किया
  • कांग्रेस ने CJI दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव का नोटिस उप राष्ट्रपति को सौंपा
  • नरोदा पटिया दंगा मामला: गुजरात HC ने पीड़ितों की मुनाफा मांगने की अपील को खारिज किया
  • भारत के श्रीमंत झा ने एशियाई आर्मरेसलिंग चैंपियनशिप के 80 किलोग्राम वर्ग में कांस्य पदक जीता
  • नरोदा पाटिया दंगा मामला: माया कोडनानी को गुजरात HC ने बरी किया, बाबू बजरंगी की सजा बरकरार
  • SC ने महाभियोग को लेकर हो रही मीडिया रिपोर्टिंग पर बैन की मांग पर अटॉनी जनरल 7 मई तक देंगे राय
  • चीफ जस्टिस के खिलाफ महाभियोग की चर्चा को सुप्रीम कोर्ट ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण

संयुक्त राष्ट्र में सीरियाई हमले पर रूस का निंदा प्रस्ताव खारिज

  |   Updated On : April 15, 2018 05:35 PM

संयुक्त राष्ट्र:  

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सीरिया पर अमेरिका, फ्रांस व ब्रिटेन के किए गए हवाई हमलों की निंदा करने वाला रूसी प्रस्ताव खारिज हो गया है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, सुरक्षा परिषद के 15 सदस्यों में से तीन- रूस, बोलीविया और चीन ने शनिवार को रूस के प्रस्ताव के पक्ष में मतदान किया। इसके अलावा चार देश इक्वाटोरियल गिनी, इथोपिया, कजाकिस्तान और पेरू ने वोटिंग से दूरी बनाए रखी। बाकी बचे आठ सदस्य देशों ने प्रस्ताव के विरोध में मतदान किया। 

संयुक्त राष्ट्र में किसी भी प्रस्ताव को पारित होने में सशर्त कम से कम पक्ष में नौ वोट होने आवश्यक है। शर्त यह है कि ऐसी स्थिति में परिषद का कोई भी सदस्य देश ब्रिटेन, चीन, फ्रांस, रूस और अमेरिका इसके खिलाफ वोट नहीं करेगा। 

मसौदा प्रस्ताव में सिर्फ पांच पैराग्राफ है, जिसमें अमेरिका और इसके सहयोगी देशों के सीरिया पर सैन्य कार्रवाई की निंदा की गई है और इसे अंतर्राष्ट्रीय कानून और संयुक्त राष्ट्र चार्टर का उल्लंघन बताया है। 

प्रस्ताव में अमेरिका और इसके सहयोगी देशों के इस सैन्य कर्रावाई को तुरंत प्रभाव से खत्म करने की मांग की गई है और भविष्य में ऐसी किसी भी सैन्य कार्रवाई से दूरी बनाए रखने की बात कही गई है। 

संयुक्त राष्ट्र में रूस के राजदूत वासिले नेबेनजिया ने वोट के बाद कहा, 'आज दुनिया के लिए संयुक्त राष्ट्र के लिए और इसके चार्टर के लिए एक दुखद दिन है, जिसका स्पष्ट रूप से उल्लंघन किया गया है।'

इसे भी पढ़ें: सीरिया ने अमेरिका के 103 मिसाइलों में से 71 को मार गिराया: रूस

RELATED TAG: United Nations, Air Strikes,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो