पाकिस्तान ने 'सीजफायर उल्लंघन' को लेकर वरिष्ठ भारतीय राजनयिक को समन किया

  |   Updated On : June 13, 2018 04:43 PM
पाकिस्तान ने भारतीय राजनयिक को समन किया (सांकेतिक तस्वीर)

पाकिस्तान ने भारतीय राजनयिक को समन किया (सांकेतिक तस्वीर)

इस्लामाबाद:  

पाकिस्तान ने नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर भारतीय जवानों द्वारा किए गए कथित सीजफायर उल्लंघन में एक नागरिक की मौत पर भारत के कार्यवाहक उप-उच्चायुक्त जे पी सिंह को समन किया और विरोध जताया।

विदेश कार्यालय में दक्षिण एशिया इकाई के प्रमुख मोहम्मद फैसल ने उप-उच्चायुक्त को समन कर भारतीय जवानों द्वारा चिरकोट सेक्टर में किए गए 'अनुत्तेजित सीजफायर उल्लंघन' का विरोध किया।

बताया जा रहा है कि फायरिंग में त्रोती गांव में एक नागरिक की मौत हो गई थी।

पाकिस्तान ने कहा, 'नियंत्रण रेखा और आसपास के सीमा पर भारतीय जवान लगातार नागरिकों से भरे इलाकों को निशाना बना रहे हैं।'

पाकिस्तान के अनुसार, भारतीय जवानों ने 2018 में नियंत्रण रेखा और उसके आसपास अब तक 1100 बार सीजफायर का उल्लंघन कर चुके हैं जिसमें 29 निर्दोष नागरिकों की जानें चली गई और 117 लोग घायल हो गए।

पाकिस्तान ने कहा कि साल 2017 से भारतीय जवानों ने सीजफायर उल्लंघन में लगातार तेजी की है। भारत ने 2017 में 1970 बार सीजफायर उल्लंघन किया।

और पढ़ें: पाकिस्तान: हिंसक हमले से परेशान पलायन को मजबूर हैं पेशावर के सिख

विदेश कार्यालय (एफओ) ने कहा कि भारत का नागरिक इलाकों को टारगेट करना खेदजनक है और मानवाधिकार और अंतरराष्ट्रीय मानवीय कानूनों के खिलाफ है।

एफओ ने कहा, 'भारत के द्वारा सीजफायर का उल्लंघन क्षेत्रीय शांति और सुरक्षा के लिए खतरा है और इससे रणनीतियों में खामिया आ सकती है।'

पाकिस्तान ने कहा कि भारत को 2003 के संघष विराम समझौते (सीजफायर समझौते) का सम्मान करना चाहिए।

गौरतलब है कि पाकिस्तान भले ही भारत पर सीजफायर का आरोप लगा रहा हो लेकिन आंकड़ो के मुताबिक पाकिस्तान की तरफ से सीजफायर उल्लंघन की घटनाएं आम हैं।

और पढ़ें: जम्मू-कश्मीर: पाक ने फिर किया सीजफायर उल्लंघन, BSF के 4 जवान शहीद, 3 नागरिकों की मौत

RELATED TAG: Pakistan, Ceasefire Violations, Line Of Control, Loc, Ceasefire,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो