नवाज शरीफ की बढ़ेगी मुश्किल, JIT ने पाक पीएम के खिलाफ ने 15 मामलों को दोबारा खोलने की सिफारिश की

By   |  Updated On : July 16, 2017 03:05 PM
नवाज शरीफ

नवाज शरीफ

नई दिल्ली:  

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ पर लगे आरोपों की जांच कर रही ज्वॉइंट इंवेसटिगेशन टीम (JIT) ने 15 मामलों को फिर से खोलने की सिफारिश की है। इसमें पांच केस पर फैसला लाहौर हाई कोर्ट पहले ही सुना चुकी है जबकि आठ में पाक पीएम के खिलाफ जांच और दो में पूछताछ हुई है।

पाकिस्तानी अखबार 'द डॉन' के अनुसार इन 15 केसों में तीन 1994 से 2011 के बीच के पीपीपी के कार्यकाल के हैं जबकि 12 मामले जनरल परवेज मुशर्रफ के समय के हैं जब शरीफ का तख्तापलट कर जनरल ने अक्टूबर 1999 में कमान संभाल ली थी।

इनमें शरीफ परिवार से जुड़ा 18 साल पुराना लंदन में प्रॉपर्टी मामला भी शामिल है। इसकी शुरुआत पाकिस्तान की नेशनल एकॉउंटबिलिटी ब्यूरो (NAB) ने की थी। इसी साल अप्रैल में पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट ने जेआईटी को लंदन में फ्लैट से जुड़े मामले की जांच करने को कहा था।

यह भी पढ़ें: एआईबी के तन्मय भट्ट के पक्ष उतरे शशि थरूर, शुरू किया सोशल कैंपेन

जेआईटी की रिपोर्ट में कहा गया है कि इनमें से कई मामलों की विस्तृत जांच के बिना ही उसे बंद कर दिया गया। शरीफ परिवार पर धन जुटाने के मामले में जेआईटी ने कहा है कि आरोपियों के खिलाफ कई सबूत मौजूद हैं। जेआईटी ने साथ ही कहा है कि सुप्रीम कोर्ट को एनएबी से फिर से लंदन प्रोपर्टी के जांच का निर्देश देना चाहिए।

जेआईटी ने 1990 के दशक के उन मामलों की जांच की भी अनुशंसा की है जिसमें उन पर एफआईए (फेडरन इंवेस्टीगेशन एजेंसी) गलत तरीके 42 लोगों की नियुक्तियों का आरोप है।

यह भी पढ़ें: IIFA 2017: शाहिद और आलिया को बेस्ट एक्टर और एक्ट्रेस का अवॉर्ड, 'नीरजा' सर्वश्रेष्ठ फिल्म

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो