आतंक की लड़ाई में पाकिस्तान दोराहे पर खड़ा है: जनरल बाजवा

By   |  Updated On : May 19, 2017 10:54 AM
पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा

पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा

नई दिल्ली :  

पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने कहा कि देश को ये फैसला करना होगा कि क्या वे देश युवा आबादी के फायदों को उठाना चाहता है या फिर आतंकवाद की मार झेलना चाहता है। उन्होंने कहा कि इस समय आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में पाकिस्तान दोराहे पर खड़ा है।

आतंकवाद को नकारने में युवाओं की भूमिका से संबंधित एक कार्यक्रम में जनरल बाजवा ने कहा कि सेना तो आतंकवादियों को परास्त कर देगी लेकिन समाज में मौजूद चरमपंथ का सफाया करने में देश के सहयोग की जरूरत है।

उन्होंने कहा, ‘कृपया ये याद रखिए, सेना आतंकवादियों से लड़ती है, चरमपंथ और आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई कानूनी एजेंसियां और समाज लड़ता है।’

बाजवा ने कहा कि पाकिस्तान एक युवा देश है जहां 50 फीसदी से अधिक आबादी 25 साल से कम उम्र के लोगों की है।

और पढें: कोयला घोटाला: दिल्ली की अदालत ने पूर्व सचिव एचसी गुप्ता और केएसएसपीएल को दोषी ठहराया

भारत के खिलाफ तमाम आतंकी हमले करवाने वाला पाकिस्तान खुद भी आतंक से पीड़ित है।

उन्होंने पाकिस्तान में पनप रहे आतंकवाद के लिये वहां के राजनीतिक दल और सरकारों को दोषी करार दिया। उन्होंने कहा कि सरकार की नीतियों के कारण देश के युवा आतंकवाद की तरफ बढ़ रहे हैं।

और पढें: जीएसटी दरों पर लगी मुहर, अनाज हुए सस्ते और लग्जरी कारें होगी महंगी

आईपीएल 10 की हर बड़ी खबर के लिए यहां क्लिक करें

RELATED TAG: Pakistan, Terrorism,

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो