रोहिंग्या मुसलमानों के साथ यौन हिंसा पर यूएन ने म्यांमार सेना को ब्लैक लिस्ट में डाला

  |   Updated On : April 15, 2018 12:09 AM

नई दिल्ली:  

संयुक्त राष्ट्र की नई रिपोर्ट में पहली बार बलात्कार और यौन हिंसा संबंधी अन्य कृत्यों को अंजाम देने के ‘संदेह के पुख्ता सुराग' होने के चलते म्यांमार की सेना को ‘सरकार एवं विद्रोही समूहों' की काली सूची में डाल दिया है।

यूएन महासचिव एंतोनिया गुटरेस ने सुरक्षा परिषद को रिपोर्ट की एडवांस कॉपी दी जो न्यूज एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस को मिली है।

इस रिपोर्ट को अंतरराष्ट्रीय मेडिकल टीम और बांग्लादेश में मौजूद लोगों ने तैयार किया है। जिनका कहना है कि म्यांमार से वहां पहुंचे करीब 7,00,000 रोहिंग्या मुसलमानों ने क्रूर यौन उत्पीड़न के कारण शारीरिक एवं मनोवैज्ञानिक पीड़ा झेली।

संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने कहा कि इन हमलों को अक्टूबर 2016 और अगस्त 2017 में सैन्य 'सफाई' अभियान के दौरान कथित रूप से म्यांमार सशस्त्र बलों ने प्रायोजित किया गया था। इसके लिए वे 'कई बार स्थानीय सशस्त्र लड़ाकों के साथ मिलकर काम करते थे।'

गुटरेस ने कहा, 'बड़े पैमाने पर भय फैलाना और यौन हिंसा करना इस रणनीति का अभिन्न हिस्सा था। यह रोहिंग्या समुदाय को अपमानित करने, आतंकित करने और सामूहिक रूप से दंडित करने के लिए एक सोची समझी साजिश के तहत उठाया गया कदम था, ताकि उन्हें अपना घर-बार छोड़ने पर मजबूर किया जा सके और उनकी वापसी को रोका जा सके।'

इस रिपोर्ट को देखते हुए यूएन ने म्यांमार की सेना पर कड़ी कार्रवाई करते हुए म्यांमार की सेना को ब्लैक लिस्ट में डाल दिया है।

इसे भी पढ़ेंं: सीरिया हमला: डोनाल्ड ट्रंप ने कहा- मिशन पूरा, चीन ने जताई आपत्ति

RELATED TAG: United Nation, Rohingya Muslims, Rohingya Refugees, Myanmar Rohingya Muslims, United Nation Security Council, Mayanmar, United Nation Organisation,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो