Breaking
  • राजस्थान: PM मोदी ने रखी रिफाइनरी की नींव, कहा- अकाल और कांग्रेस जुड़वां भाई, पढ़ें पूरी खबर -Read More »
  • अमेठी पहुंचे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, लोगों से की मुलाकात
  • मीडिया के सामने भावुक हुए वीएचपी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया, कहा- मेरे एनकाउंटर की साजिश रची गई
  • अटार्नी जनरल ने कहा ऐसा लगता है कि SC के जजों के बीच अभी सुलझा नहीं है विवाद, समय लग सकता है
  • 26/11 हमले में जिंदा बचे बेबी मोशे मुंबई पहुंचे
  • अहम सुनवाई के लिए बनी नई संवैधानिक पीठ में चारों जजों को नहीं मिली जगह, पढ़ें पूरी खबर -Read More »
  • अंडर-19 विश्व कप: भारत ने पापुआ न्यू गिनी को 10 विकेट से हराया
  • अमेठी:राहुल गांधी को राम और पीएम मोदी को रावण दिखाने वाले कांग्रेस नेता पर FIR दर्ज
  • पंजाब: बिजली और सिंचाई मंत्री राना गुरजीत सिंह ने अपना इस्तीफा दिया
  • श्रीलंका नेवी ने 16 भारतीय मछुआरों को हिरासत में लिया, 4 नाव जब्त
  • इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू आज जाएंगे आगरा, देखेंगे ताजमहल
  • मुंबई: कमला मिल्स आग मामले में पुलिस ने फरार आरोपी युग तुली को गिरफ्तार किया

इक्वाडोर ने विकीलीक्स के फाउंडर जूलियन असांज को दी नागरिकता

  |  Updated On : January 11, 2018 11:26 PM
विकीलीक्स के संस्थापक जुलियन असांज (फाइल)

विकीलीक्स के संस्थापक जुलियन असांज (फाइल)

नई दिल्ली:  

इक्वाडोर ने विकीलीक्स के संस्थापक जुलियन असांज को नागरिकता दे दी है। इस बात की पुष्टि इक्वाडोर की विदेश मंत्री मारिया फरनांडा एस्पिनोसा ने की है।

12 दिसंबर 2017 को ही जूलियन असांज ने नागरिकता की अपील की थी, जिसे अब मंजूर कर लिया गया है।

यह बयान तब सामने आया है जब गुरूवार को ब्रिटेन के विदेश मंत्रालय ने असांज को राजनयिक दर्जा देने की इक्वाडोर की अपील को खारिज कर दिया था। बता दें कि यह दर्जा मिलने के बाद असांज को गिरफ्तार नहीं किया जा सकता।

बता दें कि विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने गुरुवार को दोपहर में कहा, 'इक्वाडोर की सरकार ने यूके में हाल ही में असांज के लिए राजनयिक दर्जा देने के लिए अपील की थी।' उन्होंने आगे कहा, 'ब्रिटेन न तो असांज को यह दर्जा देगा न ही इस मसले पर इक्वाडोर से कोई बात करेगा।'

और पढ़ें: क्लास में लेट पहुंचने पर 7 साल के मासूम की पिटाई, हॉस्पिटल में मौत

इस पर मारिया फरनांडा एस्पिनोसा ने कहा कि उन्होंने इस मसले को सुलझाने के लिए यह कदम उठाया है। उन्होंने कहा कि इक्वाडोर चाहता है कि इस स्थिति का एक 'सम्मानजनक' हल निकले।

उन्होंने जूलियन असांज की जान को खतरा बताते हुए कहा कि उन्हें उनकी बहुत चिंता है।

दरअसल असांज के खिलाफ जब स्वीडन में बलात्कार का आरोप लगा था तब उन्होंने प्रत्यर्पण से बचने के लिए लंदन स्थित इक्वाडोर दूतावास से राजनीतिक शरण की मांग की थी।

इस मामले में स्वीडन के अभियोजन पक्ष ने पिछले साल मई में बलात्कार के केस में जांच बंद कर दी थी। लेकिन असांज को अभी भी गिरफ्तारी खतरा बना हुआ है क्योंकि उनपर जमानत उल्लंघन करने का आरोप है।

ऑस्ट्रेलिया में पैदा हुए असांज को यह भी डर है कि अंततः उन्हें अमेरिका को प्रत्यर्पित किया जाएगा। ताकि उन पर 2010 में विकीलीक्स में हजारों मिलेट्री डोक्यूमेंट छापने का मुकदमा चलाया जा सके।

और पढ़ें: आयकर विभाग ने 3500 करोड़ रु. की बेनामी संपत्ति जब्त की

RELATED TAG: Ecuador, Ecuador Confirmed, Nationality, Wikileaks, Founder, Julian Assange,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो