Breaking
  • वायुसेना के लड़ाकू विमानों का लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे पर अभ्यास शुरू -Read More »
  • खरीददारी के माहौल से चढ़े शेयर बाज़ार, सेंसेक्स करीब 150 अंक उछला, निफ्टी 10,220 स्तर पार -Read More »
  • फडणवीस का शिवसेना पर कटाक्ष, कहा- स्वार्थी दोस्त की तुलना में उदार विपक्ष अच्छा (पढ़ें ख़बर) -Read More »
  • सुशील मोदी के ट्वीट पर भड़के तेजस्वी, निजी हमला कर दी चुनौती (पढ़ें पूरी ख़बर) -Read More »

ट्रंप ने मीडिया रिपोर्टस को बताया ग़लत, कहा- परमाणु हथियारों को बढ़ाने नहीं बोला

By   |  Updated On : October 12, 2017 12:14 PM
डोनाल्ड ट्रंप (फाइल फोटो)

डोनाल्ड ट्रंप (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मीडिया के उन ख़बरों का खंडन किया है जिसमें कहा जा रहा था कि ट्रंप ने अपने जनरलों से अमेरिकी परमाणु हथियारों में 10 गुनी वृद्धि करने का निर्देश दिया है।

ट्रंप ने कहा है कि वह मिलिटरी के आधुनिकीकरण की बात कर रहे थे। ट्रंप के साथ-साथ पेंटागन ने भी इस ख़बर को ग़लत बताया है। ट्रंप ने ग़लत ख़बर दिखाने को लेकर न्यूज़ एजेंसी को धमकाते हुए कहा कि इस तरह से कुछ भी लिख देना देश हित में नहीं है। क्या वो चाहते हैं कि उनका लाइसेंस रद्द कर दिया जाए?   

इससे पहले एनबीसी न्यूज ने अपनी एक रिपोर्ट में दावा किया था कि जुलाई में ट्रंप ने अपने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों को परमाणु हथियार बढ़ाने का निर्देश दिया था।

रिपोर्ट में कहा गया था कि ट्रंप ने वर्तमान संख्या से 10 गुना अधिक परमाणु हथियार बढ़ाने की बात कही थी। अमेरिका के पास फिलहाल 4000 परमाणु हथियार हैं। हालांकि 1960 में अमेरिका के पास 32000 परमाणु हथियार थे।

उत्तर कोरिया के हैकरों ने दक्षिण कोरिया-अमेरिका का मिलिट्री प्लान चुराया

रिपोर्ट के मुताबिक ट्रंप का आदेश अमेरिकी क्षमता को 1960 वाले स्थिति में पहुंचाने का था।

बुधवार को वाइट हाउस में पत्रकारों से बात करते हुए ट्रंप ने इस रिपोर्ट को झूठा ठहराया है। ट्रंप ने कहा कि मैंने कभी भी परमाणु हथियारों को बढ़ाने के लिए नहीं कहा, एनबीसी की न्यूज फेक है। उन्होंने कहा कि मैंने आधुनिकीकरण की बात कही थी। बाद में अमेरिका के डिफेंस सेक्रटरी जिम मैटिस ने भी इस रिपोर्ट को खारिज किया।

ज़ाहिर है अमेरिकी राष्ट्रपति और मीडिया के बीच तानातनी पहले भी होती रही है। हालांकि एनबीसी की यह रिपोर्ट इसलिए भी अहम हो जाती है क्योंकि फिलहाल अमेरिका और नॉर्थ कोरिया के बीच तनाव की स्थिति बनी हुई है। इसके अलावा अमेरिका ईरान के परमाणु कार्यक्रमों से भी खफा है।

उत्तर कोरिया के साथ नहीं चल रहा कूटनीतिक प्रयास, सिर्फ एक चीज काम करेगी: ट्रंप

RELATED TAG: Donald Trump, Nuclear Policy, Nbc, Us,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो