Breaking
  • कोलकाता टेस्ट: श्रीलंका के खिलाफ टीम इंडिया पहली पारी में 172 रनों पर ऑलआउट
  • अरुणाचल प्रदेश में भारत-चीन सीमा के पास भूकंप, रिक्टर स्केल पर 6.4 तीव्रता

भारतीय मूल की ब्रिटिश मंत्री प्रीति पटेल ने दिया इस्तीफा, जानें क्या थी वजह?

  |  Updated On : November 09, 2017 09:00 PM
ब्रिटेन की विदेश मंत्री प्रीति पटेल (फाइल फोटो)

ब्रिटेन की विदेश मंत्री प्रीति पटेल (फाइल फोटो)

लंदन:  

ब्रिटेन की विदेश मंत्री प्रीति पटेल ने 10 डाउनिंग स्ट्रीट में प्रधानमंत्री थेरेसा मे के साथ बैठक के बाद बुधवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, थेरेसा ने प्रीति की इजरायल के अधिकारियों के साथ गोपनीय बैठकों की खबरों के बाद पटेल को अपना अफ्रीका दौरा बीच में ही छोड़कर लंदन लौटने को कहा।

थेरेसा के मंत्रिमंडल से रक्षा मंत्री माइकल फैलन के इस्तीफे के बाद यह यह उनके लिए दूसरा बड़ा झटका है।

इससे पहले फैलन ने कथित गलत आचरण की वजह से इस्तीफा दे दिया था।

थेरेसा मंत्रिमंडल के वरिष्ठ मंत्री डेमियन ग्रीन पर भी गलत व्यवहार के आरोप लगे हैं, जिनकी जांच हो रही है। डेमियन ने हालांकि इन आरोपों का खंडन किया है।

और पढ़ें: चीन को वर्ल्ड बैंक से मिलने वाले लोन पर अमेरिका ने उठाए सवाल

ब्रिटेन की मुख्य विपक्षी पार्टी लेबर पार्टी ने विदेश मंत्री बोरिस जॉनसन को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने के लिए थेरेसा पर जोर दिया था। जॉनसन पर ब्रिटिश मूल के ईरानी नागरिक के कथित ईरान में जासूसी करने के मामले में लापरवाही बरतने का आरोप है।

लंदन में राजनीकि विश्लेषकों का कहना है कि थेरसा अल्पमत की सरकार का नेतृत्व कर रही हैं और यूरोपीय संघ के साथ ब्रिटेन के भावी संबंधों को लेकर उनकी पार्टी में भी मतभेद हैं।

प्रीति को कंजर्वेटिव पार्टी की उभरती सितारा के रूप में देखा जाता है, लेकिन उन पर ईरान के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू सहित इजरायली सरकार के अधिकारियों के साथ गोपनीय मुलाकात के आरोप लगे हैं।

प्रीति ने युगांडा के तीन दिवसीय दौरे पर रवाना होने से पहले विदेशी अधिकारियों के साथ बैठकें कर प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने के लिए थेरेसा से माफी मांगी थी।

बीते 24 घंटों के दौरान प्रीति की ईरान के अधिकारियों के साथ गोपनीय बैठकों के बारे में और जानकारियां सामने आई हैं और उनके भाग्य का फैसला सील कर दिया गया है।

गौरतलब है कि प्रीति पटेल ने गोलान हाइट्स में इजरायली सैन्य क्षेत्र के अस्पताल का दौरा किया था। हालांकि, ब्रिटेन ने गोलान हाइट्स पर इजरायल के नियंत्रण को कभी भी मान्यता नहीं दी। इजरायल ने 1967 के युद्ध के दौरान सीरिया के इस क्षेत्र पर कब्जा कर लिया था।

और पढ़ें: पाकिस्तान में बस खाई में गिरने से 22 की लोगों की मौत, 51 घायल

RELATED TAG: Priti Patel, Britain Minister, United Kingdom, Israel, Theresa May,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो