Breaking
  • केंद्र सरकार ने हज तीर्थयात्रियों की सब्सिडी खत्म की
  • हरियाणा में रिलीज नहीं होगी फिल्म 'पद्मावत', खट्टर सरकार का फैसला
  • राजस्थान: PM मोदी ने रखी रिफाइनरी की नींव, कहा- अकाल और कांग्रेस जुड़वां भाई, पढ़ें पूरी खबर -Read More »
  • अमेठी पहुंचे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, लोगों से की मुलाकात
  • मीडिया के सामने भावुक हुए वीएचपी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया, कहा- मेरे एनकाउंटर की साजिश रची गई
  • अटार्नी जनरल ने कहा ऐसा लगता है कि SC के जजों के बीच अभी सुलझा नहीं है विवाद, समय लग सकता है
  • 26/11 हमले में जिंदा बचे बेबी मोशे मुंबई पहुंचे
  • अहम सुनवाई के लिए बनी नई संवैधानिक पीठ में चारों जजों को नहीं मिली जगह, पढ़ें पूरी खबर -Read More »
  • अंडर-19 विश्व कप: भारत ने पापुआ न्यू गिनी को 10 विकेट से हराया
  • अमेठी:राहुल गांधी को राम और पीएम मोदी को रावण दिखाने वाले कांग्रेस नेता पर FIR दर्ज
  • पंजाब: बिजली और सिंचाई मंत्री राना गुरजीत सिंह ने अपना इस्तीफा दिया
  • श्रीलंका नेवी ने 16 भारतीय मछुआरों को हिरासत में लिया, 4 नाव जब्त
  • इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू आज जाएंगे आगरा, देखेंगे ताजमहल
  • मुंबई: कमला मिल्स आग मामले में पुलिस ने फरार आरोपी युग तुली को गिरफ्तार किया

म्यांमार में रोहिंग्या मुस्लिमों के नस्लीय सफाए के पक्के सबूत मिले: एमनेस्टी

  |  Updated On : September 15, 2017 09:59 AM
एमनेस्टी इंटरनेशनल (फाइल फोटो)

एमनेस्टी इंटरनेशनल (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार संस्था एमनेस्टी इंटरनेशनल ने रोहिंग्या मुस्लिमों पर म्यांमार में हुए नस्लीय सफाए के पक्के सबूत मिलने की बात कही है। एमनेस्टी इंटरनेशनल ने बताया है कि सैटेलाइट से ली गई तस्वीरों में यह साफ पता चलता है कि म्यांमार के रखाइन क्षेत्र में भयंकर आग लगी है।

सैटेलाइट इमेज से पता चलता है कि म्यांमार के रखाइन में करीब 80 से ज़्यादा भीषण आग लगी है। इससे इस बात की पुष्टि होती है कि इस क्षेत्र में रोहिंग्या के गांवों में आग लगी है।

चश्मीदद भी इस बात की तस्दीक करते हैं कि सेना ने और वहां हमलावरों ने रोहिंग्या मुस्लिमों के घर जलाने के लिए पेट्रोल और रॉकेट लॉंचर का इस्तेमाल किया था। इसके अलावा उन पर अंधाधुंध गोलीबारी तक की गई जिसमें हजारों लोग मारे गए थे।

केंद्र सरकार रोहिंग्या मुसलमानों पर सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हलफनामे में करेगी बदलाव

एमनेस्टी इंटरनेशनल के रिसर्च अधिकारी ने बताया, 'हमने अलग अलग स्रोतों से जो जानकारियां जुटाई हैं, उससे ये साफ पता चलता है कि म्यांमार के सुरक्षा बलों की ओर से नस्लीय सफ़ाये का अभियान चलाया जा रहा है. रखाइन प्रांत जल रहा है।'

म्यांमार की सेना इन आरोपों से इनकार करती है। सेना का कहना है कि उसने रोहिंग्या चरमपंथियों के हमले की जवाबी कार्रवाई में सैन्य अभियान चलाया है। 

रोहिंग्या मुस्लिम की मदद के लिए आगे आया भारत, बांग्लादेश भेजेगा राहत सामग्री

बता दें कि म्यांमार के रखाइन क्षेत्र से रोहिंग्या मुस्लिमों का पलायन जारी है। रोहिंग्या मुस्लिम बड़ी संख्या में बांग्लादेश पहुंचे है जिससे वहां भी संकट की स्थिति उत्पन्न हो गई है। इसके अलावा भारत में भी रोहिंग्या शरणार्थियों पर विवाद का माहौल है।

अमेरिका और ब्रिटेन जैसे देश म्यांमार को हिंसा बंद कर और रोहिंग्या मुस्लिमों के संदर्भ में कार्रवाई करने की हिदायत दे चुके हैं।

यह भी पढ़ें: प्रियंका चोपड़ा ने सिक्किम को बताया उग्रवाद-ग्रस्त राज्य, बाद में मांगनी पड़ी माफी

कारोबार से जुड़ी ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

RELATED TAG: Amnesty International, Rohingya, Rohingya Violence, Myanmar,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो