अमेरिका के वर्जीनिया में प्रदर्शन के दौरान भड़की हिंसा, लगाई आपातकाल

By   |  Updated On : August 13, 2017 10:09 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:  

वर्जीनिया के शर्लटविल शहर में वाइट सुप्रेमिस्ट और विरोध प्रदर्शनकारियों के बीच रैली के दौरान हिंसा भड़क उठी। रैली में शामिल कई लोगों को गंभीर चोटें आई हैं।

वाइट सुप्रमेसी रंगभेदी विचारधार है जिनका मानना है कि गोरे रंग वाले लोग ज्यादा श्रेष्ठ होते हैं। इस विचारधारा को नाजी विचारधारा से भी जोड़ा जाता है। 

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार यूनिवर्सिटी में कुछ स्टूडेंट्स और वाइट सुप्रेमिस्ट एक पार्क में रैली कर रहे थे। कुछ प्रदर्शनकारी हाथ में यहूदी झंडे लेकर पहुंच गए।

ये देखकर पुलिस ने वाइट सुप्रेमिस्ट को पार्क को खाली करने को कहा, इसी दौरान दोनों ग्रुप्स में झड़प हो गई। घटना सुबह करीब 11 बजे की है।

पुलिस ने बताया कि वाइट सुप्रेमिस्ट जब रैली कर रहे थे तब कुछ लोग वहां पर प्रदर्शन का विरोध करने के लिए पहुंच गए थे। इस दौरान उनके हाथों में यहूदी चिन्ह बने हुए झंडे थे। इन लोगों के हाथ में लाठियां और बोतलों में केमिकल लेकर भी आए थे।

और पढ़ें: SSS नेता ने कहा 'पीएम ने नहीं की किसानों की मांगे पूरी, छोड़ सकते हैं पार्टी गठबंधन'

दोनों गुटों के बीच हुई झड़प में कई लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं। वर्जीनिया के गवर्नर टेरी मेकऑलिफ ने स्टेट में इमरजेंसी घोषित कर दी है।

इन तनाव की शुरुआत शुक्रवार रात से शुरू हुई थी, जब कुछ वर्जीनिया यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स ने टॉर्च मार्च निकाला और नारों में कहा, 'वाइट यहीं रहते हैं, तुम हमें हटा नहीं सकते, नाजी हमें हटा नहीं सकते।'

और पढ़ें: गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में 48 बच्चों की मौत के बाद प्रिंसिपल ने दिया इस्तीफा

इस झड़प की अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कड़ी निंदा की है। ट्रंप ने ट्वीट में कहा, 'हमें साथ रहना चाहिए, और हिंसा की निंदा करनी चाहिए। अमेरिका में ऐसी हिंसा के लिए कोई जगह नहीं है।'

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो