Breaking
  • गृह मंत्री राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह को व्हाट्सएप पर मिली जान से मारने की धमकी
  • जम्मू-कश्मीर: अनंतनाग में दो पुलिसकर्मियों के दो सर्विस राइफल के साथ आतंकी भागे
  • जम्मू-कश्मीर: कुलगाम में आर्मी कैंप पर आतंकियों का हमला, सर्च ऑपरेशन जारी
  • तेलंगाना में सड़क दुर्घटना में दो बच्चों सहित 10 लोगों की मौत, 15 घायल
  • कटक में प्रधानमत्री मोदी ने कहा, यूपीए सरकार ने देश की साख को कम किया

अमेरिकी मीडिया ने पेश की भारत की 'नकारात्मक छवि', भारतीय राजूदत ने की आलोचना

  |   Updated On : May 16, 2018 12:09 PM
भारतीय राजदूत नवतेज सिंह सरना (फाइल फोटो)

भारतीय राजदूत नवतेज सिंह सरना (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

भारतीय राजदूत नवतेज सिंह सरना ने मंगलवार को अमेरिका में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान भारत को 'नकारात्म छवि' बताने के लिए अमेरिकी मीडिया की कड़ी आलोचना की।

नवतेज सिंह सरना ने कथित तौर पर आरोप लगाते हुए कहा कि मौजूद विदेशी पत्रकारों के बीच यह रूझान है कि वह भारत में विकास की खबरों को ध्यान न देते हुए 'अपवाद' की खबरें चुनते हैं।

नवतेज सरना ने यह टिप्पणी सेंटर फॉर स्ट्रैटेजिक एंड इंटरनेशनल स्टडीज, एक शीर्ष अमेरिकी थिंक टैंक कार्यक्रम में अपने भाषण के दौरान की।

अमेरिका की मुख्यधारा की मीडिया में भारत की छवि संबंधी सवाल पर सरना ने कहा, 'अब, यह चिंता से अधिक दयनीय बात है। भारत आगे बढ़ रहा है लेकिन आप लोग आगे नहीं बढ़ रहे हैं।'

नवतेज सरना ने कहा कि अमेरिकी मीडिया विकास की खबरों को दरकिनार करके 'अपवाद' की खबरों को चुनता है।

और पढ़ें: विदेशी पत्रकारों की मौजूदगी में परमाणु परीक्षण स्थल ध्वस्त करेगा उत्तर कोरिया

नवतेज सिंह सरना ने कहा, 'भारत में स्टार्ट अप की खबरें भी हैं लेकिन अभी भी दहेज प्रथा, जातिगत मुद्दों संबंधी खबरों को पेश किया जाता है। यह हर जगह हो रहा है। मैं साफ तौर पर कहना चाहूंगा कि यह मुझे चिंतित करता है। मैं अब इसका आदी हो गया हूं।'

भारत की 'नकारात्म' छवि पेश करने पर सरना ने कहा कि इस तरह यहां की जनता के साथ अन्याय है।

शीर्ष अमेरिकी थिंक टैंक द्वारा आयोजित 'अमेरिका और भारत: अनुमानित लोकतंत्र से प्राकृतिक सहयोगियों' के ओपनिंग सेशन के दौरान सरना पैनल चर्चा में भाग ले रहे थे।

सरना ने कहा, 'अगर अमेरिकी मीडिया को जीवित रहना है और प्रासंगिक रहना है तो उन्हें आगे बढ़ना चाहिए।'

अमेरिका में भारतीय दूतावास में अपने पिछले चार साल के कार्यकाल का जिक्र करते हुए सरना ने कहा कि यही वजह थी जिसे उन्होंने 'सुधारने की कोशिश की, लेकिन बुरी तरह विफल रही'।

उन्होंने कहा, 'यह हमारे लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है लेकिन मैं सोचता हूं कि अमेरिका को अपना नजरिया बदलने के लिए और भी ज्यादा जरूरत है। भले ही मैं भारत में नहीं था और मैं दुनिया सबसे महत्वपूर्ण देश के बारे में कहूंगा। दुर्भाग्यवश, आपको मैं नहीं बता सकता, मैं कारणों से अनुमान लगा सकता हूं।'

और पढ़ेंः यरुशलम में खुला US दूतावास, इजराइली फायरिंग में 52 फिलीस्तीनियों की मौत

RELATED TAG: Navtej Singh Sarna, India Us Ties, Indian Ambassador To Us Navtej Sarna, American Media, American Think Tank,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो