योगी आदित्यनाथ बोले, अगर RSS नहीं होता तो बंगाल, पंजाब और कश्मीर पाकिस्तान के कब्जे में होता

By   |  Updated On : May 20, 2017 12:55 PM
योगी आदित्यनाथ, फाइल फोटो (Image Source- @myogiadityanath)

योगी आदित्यनाथ, फाइल फोटो (Image Source- @myogiadityanath)

ख़ास बातें
  •  योगी ने कहा, आरएसएस नहीं होता तो पश्चिम बंगाल, पंजाब और जम्मू-कश्मीर पाक के हिस्से में होता
  •  आरएसएस की आलोचना करने वाले विपक्ष पर विधानसभा में बरसे योगी आदित्यनाथ
  •  योगी ने कहा, कहा गाय और गंगा का मुद्दा उठाते हैं, क्या ये मुद्दा उठाना गलत है?

नई दिल्ली:  

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि अगर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) और जन संघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी नहीं होते तो आज पश्चिम बंगाल, पंजाब और जम्मू-कश्मीर पाकिस्तान के हिस्से में होता।

योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को आरएसएस की आलोचना करने वाले विपक्ष को निशाने पर लेते हुए कहा कि संघ दुनिया का एकमात्र ऐसा संगठन है जो सरकार से सहायता नहीं लेता, फिर भी विपक्ष हर बात में आरएसएस का नाम ले लेता है।

उत्तर प्रदेश विधानसभा में राज्यपाल राम नाइक के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव की चर्चा में योगी ने कहा, 'अगर आरएसएस और डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी) नहीं होतो ते पश्चिम बंगाल, पंजाब और कश्मीर पाकिस्तान के कब्जे में होता।'

और पढ़ें: यूपी में 74 IAS का हुआ तबादला, गोयल बने योगी आदित्यनाथ के प्रमुख सचिव

उन्होंने कहा, 'वन्दे मातरम पर (विपक्ष के लोग) ऐतराज करते हैं। राष्ट्रगीत को राजनीति से जोड़ना संकीर्णता है। आरएसएस ने विद्या और वन्दना की परंपरा को जीवित रखा है।'

विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि गाय और गंगा के मुद्दे पर वह गलत बयानी कर रहे हैं। योगी ने कहा, 'कहा गाय और गंगा का मुद्दा उठाते हैं। क्या ये मुद्दा उठाना गलत है? गंगा हमारी मां है, गाय हमारी माता है।'

और पढ़ें: सहारनपुर हिंसा के बाद 180 परिवारों ने हिंदू धर्म छोड़ा, देवी-देवताओं की मूर्ति की विसर्जित

योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को 17वीं विधानसभा के पहले सत्र के चौथे तथा अंतिम दिन प्रदेश की कानून-व्यवस्था पर कहा कि राज्य में अपराध की घटनाओं पर अंकुश लगाया जाएगा। वहीं विपक्ष ने कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर सरकार को घेरा।

आईपीएल 10 की हर बड़ी खबर के लिए यहां क्लिक करें

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

अन्य ख़बरे

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो