यूपी चुनाव: रायबरेली में प्रियंका गांधी का पीएम मोदी पर हमला, कहा- यूपी को किसी बाहरी को गोद लेने की जरूरत नहीं

By   |  Updated On : February 18, 2017 07:24 AM
रायबरेली में रैली में प्रियंका गांधी और राहुल गांधी

रायबरेली में रैली में प्रियंका गांधी और राहुल गांधी

ख़ास बातें
  •  रायबरेली की रैली में बोलीं प्रियंका, यूपी को किसी बाहरी नेता की जरूरत नहीं
  •  प्रियंका गांधी ने कहा, यूपी का हर नौजवान नेता बन सकता है और यूपी का विकास कर सकता है
  •  प्रियंका ने कहा- पीएम ने खोखले वादे किए, 3 साल से सरकार है, वाराणसी के लिए कुछ नहीं किया

नई दिल्ली:  

उत्तर प्रदेश के चुनाव में अबतक परदे के पीछे रहीं प्रियंका गांधी ने रायबरेली से जोरदार आगाज किया। उनके निशाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी थे। उन्होंने कहा कि यूपी को किसी बाहरी नेता की जरूरत नहीं है। प्रियंका गांधी ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि यूपी को किसी बाहरी नेता की जरूरत नहीं है। 

प्रियंका ने कहा, आज टीवी पर सुना कोई उत्तर प्रदेश की बहुत निंदा कर रहा है और कह रहा है कि हमें वाराणसी के लोगों ने गोद लिया है। वाराणसी के लिए मैं एक बेटा हूं, मैं उत्तर प्रदेश का बेटा हूं। मेरे मन में बात आई क्या उत्तर प्रदेश को बाहर से किसी को गोद लेने की ज़रुरत है? क्या यहां कोई नौजवान नहीं है जो उत्तर प्रदेश को आगे बढ़ा सके?'

प्रियंका ने कहा, 'आज राहुल जी और अखिलेश जी आपके सामने हैं, वो इसी मिट्टी के पले बढे हैं, उन्होंने आपका प्रतिनिधित्व किया है,उनके दिल और जान में उत्तर प्रदेश है।'

प्रधानमंत्री मोदी ने गुरुवार को उत्तर प्रदेश के हरदोई में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा था, 'भगवान कृष्ण यूपी की धरती में पैदा हुए और गुजरात में कर्मभूमि बनाई। मैंने गुजरात में जन्म लिया और मुझे यूपी ने गोद लिया है। यह मेरी कर्मभूमि है, मेरा माई-बाप है। मैं ऐसा बेटा नहीं हूं, जो यूपी छोड़ दूं। गोद लिया बेटा भी माई-बाप की चिंता करेगा और यहां की स्थिति बदलने का कर्तव्य निभाएगा।'

और पढ़ें: मुख्तार अंसारी को झटका, रद्द हुई पैरोल, चुनाव आयोग ने की थी शिकायत

प्रियंका ने कहा, 'प्रधानमंत्री जी महिलाओं के बारे में बात कर रहे थे,मैं कहना चाहती हूँ कि जब आपका जिक्र करते हैं तो किसी की बहन,बेटी, पत्नी और माँ का जिक्र करते हैं। क्यों?मैं औरत हूँ, मैं देश की महिलाओं के तरफ से उनसे कहना चाहती हूँ कि हमेशा इसको रिश्ते के साथ जोड़ने की ज़रूरत नहीं है।'

प्रियंका ने नोटबंदी को लेकर भी पीएम मोदी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, 'जब उन्होंने ताली बजाकर नोटबंदी की और आपकी बचत को इस तरह फिंकवाया जैसे कागज़ के टुकड़े को फेंकते हैं, जब आपको लाइन में खड़ा किया। क्या वो महिलाओं पर अत्याचार नहीं था? क्या उस समय आपके प्रति हमदर्दी नहीं थी?'

और पढ़ें: राहुल ने कहा, पीएम मोदी ने DDLJ के तरह अच्छे दिन का वादा किया, ढाई साल बाद शोले का 'गब्बर' आ गया

अपनी मां सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली में प्रियंका ने कहा, 'आप लोग उसे वोट दीजिए जो आपके लिए काम करे, ना कि उसके लिए जो केवल झूठे वादे करे।'

प्रियंका यहीं नहीं रुकीं। उन्होंने कहा, 'पीएम ने बहुत खोखले वादे किए हैं, तीन साल से सरकार में हैं, वाराणसी के लिए कुछ नहीं किया। जब राजीव गांधी पीएम थे, तो अमेठी का बहुत विकास  किया था। उन्होंने कहा कि विकास क्या चीज होती है ये अमेठी की जनता से पूछें पीएम मोदी।'

विधानसभा चुनाव से जुड़ी हर बड़ी खबर के लिए यहां क्लिक करें

कांग्रेस और सपा के बीच गठबंधन के आसार धुंधले पड़ने के समय प्रियंका कांग्रेस की ओर से मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ मुख्य वार्ताकार की भूमिका निभाने वालों में से एक थीं। पार्टी से जुड़े एक सूत्र ने आईएएनएस को बताया कि प्रियंका का नाम हालांकि पार्टी के स्टार प्रचारकों की सूची में है, लेकिन वह संभवत: खुद को अमेठी और रायबरेली तक ही सीमित रखेंगी।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी यहां 20 फरवरी को जनसभा को संबोधित करेंगी। सोनिया ने अभी तक खराब सेहत की वजह से चुनाव प्रचार से दूरी बनाए रखी थी। रायबरेली में 23 फरवरी और अमेठी में 27 फरवरी को मतदान होंगे।

और पढ़ें: लालू यादव का PM मोदी पर तंज, कहा- पंजाब में खून का बेटा, यूपी में दत्तक पुत्र, वाह!

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे