UP विधानसभा में मिला विस्फोटक, अज्ञात लोगों के खिलाफ FIR, योगी ने बताया आतंकी साजिश

By   |  Updated On : July 14, 2017 08:27 PM
उत्तर प्रदेश विधानसभा (फोटो-PTI)

उत्तर प्रदेश विधानसभा (फोटो-PTI)

ख़ास बातें
  •  यूपी विधानसभा में विस्फोटक मिलने के मामले में पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ दर्ज की FIR
  •  सीएम योगी आदित्यनाथ ने आतंकी साजिश बताया, कहा- एनआईए करेगी जांच

नई दिल्ली:  

उत्तर प्रदेश विधानसभा में विस्फोटक मिलने के मामले में पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ FIR दर्ज की है। बुधवार को पुलिस को विधानसभा में विस्फोटक होने की सूचना मिली थी।

विस्फोटक बरामद होने के बाद उसे फॉरेंसिक लैब में भेजा गया जिसके बाद इस बात की पुष्टी हुई की यह काफी शक्तिशाली विस्फोटक है। विस्फोटक का नाम पीईटीएन (PETN)है। विस्फोटक सदन में नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी से कुछ दूरी पर मिला था।

उत्तर प्रदेश विधानसभा में सदन के भीतर मिले शक्तिशाली विस्फोटक को आतंकवादी साजिश का हिस्सा करार देते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इसकी जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) से कराई जाएगी।

योगी ने कहा, 'यह मामला 22 करोड़ लोगों की सुरक्षा से जुड़ा है। इसका खुलासा होना ही चाहिए। इसमें सभी सदस्य सहयोग करेंगे।' योगी ने कहा कि सुरक्षा सभी की सामूहिक जिम्मेदारी है। इसमें सबका सहयोग जरूरी है। सफाईकर्मियों को मिला पाउडर पहले लगा कि कोई सामान्य रसायन है, लेकिन जांच के बाद मिले लैब की रिपोर्ट से पता चला कि यह शक्तिशाली विस्फोटक पीईटीएन है।

उन्होंने कहा, 'पीईटीएन की मात्रा तो केवल 150 ग्राम थी, लेकिन इसके विस्फोट से बड़ा नुकसान हो सकता था। पूरे विधानभवन को उड़ाने के लिए इस विस्फोटक का 500 ग्राम काफी है।'

और पढ़ें: खतरनाक विस्फोटक PETN, मुश्किल होता है इसका पता लगाना, जानें इसके बारे में

मुख्यमंत्री ने कहा कि सवाल यह उठता है कि आखिर वे कौन लोग हैं, जिन्होंने इसे यहां तक पहुंचाया। जनप्रतिनिधियों के विशेषाधिकार हैं, तो क्या उन्हें सुरक्षा में छूट दे देंगे? यह खतरनाक प्रवृत्ति है। खतरनाक स्थिति पैदा हो गई है। विधानभवन के कर्मियों का पुलिस वेरीफिकेशन होना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने बुधवार शाम 4 बजे डीजीपी, प्रुमख सचिव, विधानसभा सचिव, प्रमुख सचिव गृह, प्रमुख सचिव सचिवालय प्रशासन, एडीजी लॉ ऐंड ऑर्डर, एडीजी सिक्यॉरिटी, एएसपी विधान सभा समेत तमाम अधिकारियों के साथ बैठक की और सुरक्षा दुरुस्त करने के लिए कहा।

और पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट ने कहा, मणिपुर में फर्जी मुठभेड़ों की जांच करे सीबीआई

विधानसभा में शक्तिशाली विस्फोटक पीईटीएन पहुंचा कैसे, यह बड़ा सवाल है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इस संबंध में यूपी पुलिस से रिपोर्ट तलब की है।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मांगी रिपोर्ट

उत्तर प्रदेश विधानसभा में सदन के भीतर मिले शक्तिशाली विस्फोटक को आतंकवादी साजिश का हिस्सा करार देते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इसकी जांच नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी (एनआईए) से कराई जाएगी।

और पढ़ें: SGM मीटिंग में शामिल होने पर श्रीनिवासन और निरंजन शाह को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो