Breaking
  • ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को एक इनिंग और 41 रन से हराया, 3-0 से एशेज सीरीज़ पर जमाया कब्ज़ा
  • सीएम विजय रुपाणी ने राजकोट पश्चिम सीट से दर्ज़ की जीत, कांग्रेस के राजगुरु शंकर को हराया

मंदिर-मस्जिद विवाद: सीएम योगी आदित्यनाथ से मिले श्री श्री रविशंकर, कल जाएंगे अयोध्या

  |  Updated On : November 15, 2017 12:51 PM
 योगी आदित्यनाथ से मिले श्री श्री रविशंकर (फोटो- @myogiadityanath)

योगी आदित्यनाथ से मिले श्री श्री रविशंकर (फोटो- @myogiadityanath)

ख़ास बातें
  •  राम मंदिर मसले पर श्री श्री रविशंकर ने की योगी आदित्यनाथ से मुलाकात
  •  विशंकर 16 नवंबर को अयोध्या जाकर राम मंदिर मामले से जुड़े सभी पक्षकारों से मुलाकात करेंगे

 

नई दिल्ली:  

अयोध्या विवाद पर समझौते का रास्ता तलाश रहे आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक और आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर ने बुधवार को लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की।

 

मुख्यमंत्री के सरकारी आवास 5 कालिदास मार्ग पर हुई इस मुलाकात को काफी अहम माना जा रहा है। श्री श्री रविशंकर ने मुलाकात के दौरान अयोध्या में राम मंदिर मुद्दे पर उनसे चर्चा की।

मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद श्री श्री रविशंकर अपने करीबी पंडित अमरनाथ मिश्र के आवास पर मुस्लिम संगठनों के प्रतिनिधियों से मुलाकात करने चले गए।

योगी ने मंगलवार को श्री श्री के अयोध्या विवाद में हस्तक्षेप की कोशिशों पर कहा था कि 'बातचीत को लेकर किया गया कोई भी प्रयास स्वागत योग्य है।'

योगी से मुलाकात के बाद रविशंकर 16 नवंबर को अयोध्या जाकर राम मंदिर मामले से जुड़े सभी पक्षकारों से मुलाकात करेंगे। सोमवार को अयोध्या पहुंचे उनके प्रतिनिधि भव्य तेज ने यह जानकारी दी। तेज के मुताबिक रविशंकर 16 नवंबर को सड़क मार्ग से अयोध्या पहुंचेंगे।

और पढ़ें: जानें कौन हैं अयोध्या विवाद सुलझाने की पहल करने वाले श्री श्री रविशंकर

तेज ने बताया कि उन्होंने हिंदू और मुस्लिम पक्षकारों से मिलकर श्री श्री के अयोध्या दौरे के उद्देश्य के बारे में जानकारी दे दी है। श्री श्री रविशंकर 11 बजे अयोध्या पहुंचेंगे। वह सीधे मणिराम छावनी जाएंगे और राम जन्मभूमि न्यास अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास से मुलाकात करेंगे।

इसके बाद वह न्यास के सदस्य डॉ. रामविलास वेदांती, मस्जिद के पैरोकार स्वर्गीय हाशिम अंसारी के बेटे इकबाल अंसारी से मुलाकात करेंगे। रविशंकर शिया वक्फ बोर्ड के प्रमुख वसीम रिजवी से मुलाकात कर चुके हैं।

वहीं सुन्नी वक्फ बोर्ड ने श्री श्री रविशंकर के समझौते की कोशिशों को सत्तारूढ़ दलों की साजिश बताते हुए कहा कि अयोध्या विवाद पर हमें सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार करना चाहिए।

इस बीच रविशंकर की मध्यस्थता को लेकर सवाल भी उठ रहे हैं।

अखाड़ा परिषद के महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि श्री श्री कोई संत नहीं हैं। वह एक एनजीओ चलाते हैं और वह बिना मतलब राम जन्मभूमि समझौते में पड़े हैं। राम मंदिर निर्माण उनकी हद के बाहर है।

और पढ़ें: योगी के शहर गोरखुपर में किन्नरों ने संभाली ट्रैफिक व्यवस्था

RELATED TAG: Ayodhya Dispute, Ram Temple, Sri Sri Ravi Shankar, Yogi Adityanath,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो