Breaking
  • आरजेडी कार्यकर्ताओं के हंगामे के बाद सीएम नीतीश के आवास पर बढ़ाई गई सुरक्षा व्यवस्था
  • NDA में शामिल हुई जेडी-यू, 'बागी' शरद यादव के खिलाफ नहीं हुई कार्रवाई -Read More »
  • शुक्रवार की क्लोजिंग के मुकाबले 25 फीसदी प्रीमियम पर बायबैक करेगी इंफोसिस
  • यूपी में ख़राब कानून व्यवस्था को लेकर समाजवादी पार्टी के नेताओं ने राज्यपाल से की मुलाक़ात
  • इंफोसिस के बोर्ड ने 13,000 करोड़ रुपये के बायबैक को दी मंजूरी -Read More »
  • उत्तर प्रदेश के गोरखपुर पहुंचे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी
  • जम्मू-कश्मीर: शोपियां ज़िले के 9 गांवो में सुरक्षाकर्मियों ने शुरु किया सर्च ऑपरेशन

यूपी के स्कूलों में अब रेडियो के जरिए सिखाया जाएगा अंग्रेजी बोलना

By   |  Updated On : July 18, 2017 11:26 AM
सांकेतिक चित्र

सांकेतिक चित्र

ख़ास बातें
  •  युनाइटेड नेशन्स चिल्ड्रेन्स फंड (यूनीसेफ) के सहयोग से 'आओ अंग्रेजी सीखें' रेडियो कार्यक्रम प्रारंभ किया गया।
  •  'आओ अंग्रेजी सीखें' कार्यक्रम के अंतर्गत कुल 90 एपीसोड का प्रसारण होगा।
  •  इनके माध्यम से बच्चे अपने शिक्षकों की मौजूदगी में प्रसारण सुनेंगे और फिर बोलने और लिखने का अभ्यास करेंगे।

 

 

नई दिल्ली:  

उत्तर प्रदेश के 45 हजार उच्च प्राथमिक और 746 कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालयों में बच्चों को एक नए अंदाज में अंग्रेजी सिखाई जाएगी। युनाइटेड नेशन्स चिल्ड्रेन्स फंड (यूनीसेफ) के सहयोग से 'आओ अंग्रेजी सीखें' रेडियो कार्यक्रम प्रारंभ किया गया है।

इस रेडियो कार्यक्रम का शुभारंभ आल इंडिया रेडियो द्वारा सोमवार को किया गया। इसके अंतर्गत कुल 90 एपीसोड का प्रसारण होगा। यह प्रसारण सुबह 10:45 से 11 बजे तक किया जायेगा।

इस कार्यक्रम की शुरुआत इलाहाबाद स्थित चाका के कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय से सर्व शिक्षा अभियान के राज्य परियोजना निदेशक डॉ़ वेदपति मिश्रा ने की।

डॉ़ मिश्रा ने बताया कि इन स्कूलों में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं को अंग्रेजी सिखाने के लिए 15-15 मिनट के एपिसोड तैयार किए गए हैं। इन एपिसोड के माध्यम से बच्चे अपने शिक्षकों की मौजूदगी में प्रसारण सुनेंगे और फिर बोलने और लिखने का अभ्यास करेंगे। ज्यादा फोकस अंग्रेजी बोलने (स्पीकिंग) पर है।

और पढ़े: लखनऊ यूनिवर्सिटी में सभी तरह के प्रदर्शन हुए बैन, लगेगा 25 हजार रुपये जुर्माना

इसके लिए सभी 75 जिलों के जिला समन्वयक (बालिका शिक्षा) को 28 जून से 6 जुलाई तक चार बैच में दो-दो दिन का प्रशिक्षण दिया जा चुका है। ‘आओ अंग्रेजी सीखें’ रेडियो कार्यक्रम सफल बनाने के लिए बेसिक शिक्षा विभाग स्कूल प्रबंध समिति और मां समूह की मदद ले रहा है।

देखा जाए तो प्राइमरी स्कूलों के बच्चों को अंग्रेजी की शिक्षा कक्षा तीन से दी जाती है जबकि प्राइवेट व नर्सरी स्कूलों के बच्चों को नर्सरी व केजी की कक्षाओं से अंग्रेजी विषय पढ़ाया जाता है। पूर्व माध्यमिक विद्यालयों के छठी कक्षा के बच्चों के साथ ही कस्तूरबा गांधी विद्यालय की छात्राओं को अंग्रेजी सिखाने के लिए शुरू किया गया रेडियो कार्यक्रम बेहद ही सराहनीय कदम है।

और पढ़े: यूपी विधानसभा में मिला सफेद पाउडर PTEN विस्फोटक ही था, योगी सरकार ने मीडिया रिपोर्ट्स को किया खारिज

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो