BREAKING NEWS
  • सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए कांग्रेस ने जारी की उम्मीदवारों की लिस्ट- Read More »
  • यूपी एटीएस ने जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी को लिया रिमांड पर मिली यह जानकारी- Read More »
  • Lok sabha election 2019: सपना चौधरी ने ग्रहण की कांग्रेस की सदस्यता- Read More »

72वां स्वतंत्रता दिवस: अमृतसर में बढ़ाई गई सुरक्षा

News State Bureau  |   Updated On : August 12, 2018 02:08 PM
प्रतीकात्मक फोटो

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:  

भारत आने वाली 15 अगस्त को अपना 72वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। ऐसे में सुरक्षा को चाक चोबंद रखने के लिए सरकार ने जगह-जगह पुलिस बल तैनात किए हैं। वहीं अमृतसर में भी जनरल अलर्ट घोषित कर दिया गया है। पुलिस अधिकारी ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि 15 अगस्त को देखते हुए अमृसर में जनरल अलर्ट लगाया गया है और इसका 'Referendum 2020' से कोई संबंध नहीं हैं। 

बता दें कि लंदन के ट्राफलगर स्क्वायर में रविवार को 'Referendum 2020' कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। ये कार्यक्रम संयुक्त राष्ट्र आधारित सिख अलगाववादी संगठन - सिख फॉर जस्टिस आयोजित कर रहा है। इस रेफरेंडम के जरिए संगठन भारत के राज्य पंजाब में अलग खालिस्तान की मांग कर रहा है।

दरअसल, सिख फॉर जस्टिस (SFJ) नाम का एक ग्रुप पिछले कई सालों से तथाकथित खालिस्तान की मांग को लेकर लंदन में माहौल बना रहा है। यही ग्रुप रविवार को 'लंदन डिक्लरेशन ऑन पंजाब इंडिपेंडेंस रेफरेंडम 2020' नाम से एक बड़ी रैली कर रहा है।

'सिख फॉर जस्टिस' के कानूनी सलाहकार गुरपतवंत सिंह पन्नम का कहना है कि इस रैली का मकसद 'लंदन डिक्लरेशन' को संयुक्त राष्ट्र (UN) में रखना है। साथ ही उसके सदस्य देशों को यह बताना भी है कि पंजाब की स्वतंत्र स्थिति जो पहले अस्तित्व में थी, उसे फिर से स्थापित किया जाना चाहिए।

वहीं अमृतसर के पुलिस आयुक्त एसएस श्रीवास्तव ने पंजाब में बढ़ी सुरक्षा के बारे में बताया कि 'हमने जगह जगह चेकपॉइंट्स बढ़ा दिए हैं। हालांकि अभी तक किसी भी तरह की संधिग्ध गतिविधि की सूचना नहीं मिली है। लेकिन किसी भी तरह की गैर कानूनी गतिविधि बरदास्त नहीं की जाएगी।'

आगे उन्होंने अमृतसर की सुरक्षा के बारे में बताया कि 'अब तक अमृतसर के बारे में कोई विशेष जानकारी नहीं मिली है। 15 अगस्त से पहले सभी जगहों पर जनरल अलर्ट रहता ही है और यह सब एहतियात उससे जुड़े हुए ही हैं। मुझे नहीं लगता कि सुरक्षा कड़ी करने का कोई भी संबंध रेफरेंडम से है।'

इस हफ्ते की शुरुआत में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने यह दावा किया था कि 'Referendum 2020' अभियान से पंजाब का कोई लेना देना नहीं है।

और पढ़ें- मॉब लिंचिंग, रोजगार, आरक्षण, एनआरसी मुद्दे को लेकर पीएम मोदी ने कही यह बड़ी बात, पढ़ें पूरा इंटरव्यू

मुख्यमंत्री ने आतंकवाद से निपटने और सुरक्षा के संबंध में बताया कि 'मैंने पंजाब पुलिस को आतंकवाद से सख्ती से निपटने को कहा है।' उन्होंने आतंकवाद को खत्म करने की दिशा में उनकी सरकार के द्वारा पिछले 15 महिनों में उठाए गए कदमों की सराहना करते हुए बताया कि 'पुलिस ने इस दौरान कई आतंकी गतिविधियों को रोका है। हमारी सरकार आने के बाद पुलिस ने सख्ती से कार्रवाई करते हुए बड़ी मात्रा में ड्रग्स, असला-बारूद और हथियार बरामद किया है।'

First Published: Sunday, August 12, 2018 12:48 PM

RELATED TAG: 15 August, 72nd Independence Day, Security, Amritsar,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटरऔरगूगल प्लस पर फॉलो करें

News State ODI Contest
Newsstate Whatsapp

न्यूज़ फीचर

वीडियो

फोटो