Breaking
  • पी वी सिंधु दुबई वर्ल्ड सुपर सीरीज के फाइनल में पहुंची
  • H-1B वीजा में मिली छूट को ख़त्म करेगा ट्रंप प्रशासन (पढ़ें खबर) -Read More »
  • अगड़ी जाति के गरीबों को भी आरक्षण देने पर करें विचार: HC (पढ़ें खबर) -Read More »
  • यौन अपराध रोकने के लिए महिलाओं को गैजेट्स दिलाए सरकार: मद्रास HC (पढ़ें खबर) -Read More »
  • लश्कर प्रमुख हाफिज सईद ने फिर उगली आग, बोला- भारत से लेंगे पूर्वी पाकिस्तान का बदला
  • गुजरात चुनाव से पहले डरे हार्दिक, बोले- EVM पर सौ फीसदी है शक (पढ़ें खबर) -Read More »
  • जीएसटी परिषद ने ई-वे बिल को लागू करने की दी मंजूरी

15 फीसदी की गिरावट के साथ करीब 10 लाख रुपये का हुआ एक बिटक्वाइन

  |  Updated On : December 08, 2017 05:30 PM
बिटक्वाइन (फाइल फोटो)

बिटक्वाइन (फाइल फोटो)

ख़ास बातें
  •  बिटक्वाइन की कीमत में गिरावट, 14500 अमेरिकी डॉलर का हुआ एक बिट क्वाइन
  •  जनवरी में एक बिटक्वाइन की कीमत थी करीब 752 अमेरिकी डॉलर

 

नई दिल्ली:  

दुनिया की वर्चुअल करेंसी माने जाने वाली बिटक्वाइन में आज 15 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। इस गिरावट के साथ ही अब एक बिट क्वाइन की कीमत करीब 14,500 अमेरिकी डॉलर हो गई है।

इसका मतलब यह हुआ कि अगर आपके पास एक बिटक्वाइन है तो आप अभी 9 लाख 34 हजार 360 रुपये के मालिक हैं। भारत में एक बिटक्वाइन की कीमत अभी करीब 10 लाख रुपये के बराबर है।

खासबात यह है कि इस साल के शुरूआत (जनवरी) में एक बिटक्वाइन की कीमत करीब 752 अमेरिकी डॉलर थी जिसमें साल के अंत तक 50 फीसदी से भी ज्यादा की बढ़ोतरी हो चुकी है।

बता दें कि बीते सप्ताह बिटक्वाइन ने दुनिया के हर करेंसी का रिकॉर्ड तोड़ दिया था और 1 बिटक्वाइन करीब 17 हजार अमेरिकी डॉलर के बराबर हो गया था। ब्लूमबर्ग न्यूज के मुताबिक बिट क्वाइन के प्राइव वैल्यू में लगातार बदलाव हो रहा है और ये कभी ऊपर जा रहा है तो कभी नीचे जा रहा है। बिट क्वाइन एक ऐसी वर्चुअल करेंसी है जिससे आप बियर से लेकर पिज्जा तक खरीद सकते हैं।

खासबात यह है कि बिटक्वाइन न तो किसी देश की करेंसी है और न ही कोई सेंटल बैंक इसे छापती है। साल 2009 में बिटक्वाइन करेंसी बनाई गई थी जो एक सॉफ्टवेयर के जरिए ट्रेड करता है।

क्या है बिटक्वाइन

बिटक्वाइन एक वर्चुअल करेंसी (मुद्रा) है जिसे आप न तो देख सकते हैं और न ही छू सकते हैं। इस पर किसी भी देश की सरकार का कोई नियंत्रण नहीं हैं और न ही किसी भी देश की बैंक इस मुद्रा को जारी करती है। चूंकि ये किसी देश की मुद्रा नहीं है इसलिए इस पर कोई टैक्स भी नहीं लगता है।

बिटक्वाइन पूरी तरह छुपी हुई या यू कहें गुप्त करेंसी है है और इसे कोई भी सरकार से छुपाकर रख सकता है क्योंकि यह करेंसी सिर्फ कोड में होती है जिस न तो जब्त किया जा सकता है और न ही कोई नष्ट कर सकता है।

यह भी पढ़ें: IRCTC मामले में ईडी ने जब्त की लालू की 45 करोड़ रु. की जमीन, तेजस्वी ने बताया राजनीतिक साजिश

बिटक्वाइन को दुनिया में कहीं भी सीधा ख़रीदा या बेचा जा सकता है। शुरुआत में कंप्यूटर पर बेहद जटिल कार्यों के बदले ये क्रिप्टो करंसी कमाई जाती थी।

कितने बिटक्वाइन अभी मौजूद

अनुमान के मुताबिक इस समय पूरे विश्व में क़रीब डेढ़ करोड़ से ज्यादा बिटक्वाइन प्रचलन में हैं। बिटक्वाइन ख़रीदने के लिए यूज़र को पता रजिस्टर करना होता है। ये पता 27-34 अक्षरों या अंकों के कोड में होता है और यह वर्चुअल पते की तरह काम करता है। इसी पर बिटक्वाइन भेजे जाते हैं।

इन वर्चुअल पते का कोई रजिस्ट्रेशन नहीं होता है ऐसे में बिटक्वाइन रखने वाले लोग अपनी पहचान गुप्त रख सकते हैं। ये पता बिटक्वाइन वॉलेट में स्टोर किया जाता है जिनमें बिटक्वाइन रखे जाते हैं।

यह भी पढ़ें: बीजेपी ने जारी किया संकल्प पत्र, राहुल ने उठाये थे सवाल

RELATED TAG: Bitcoin, 15k Dollar, Investors, Bitcoin Exchange,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो