फेड के फैसले से शेयर बाजारों में गिरावट, सेंसेक्स 139 अंक नीचे, निफ्टी 10,808 अंक पर बंद

  |   Updated On : June 14, 2018 09:26 PM
प्रतीकात्मक चित्र

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली:  

अमेरिकी फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दरों में 0.25 फीसदी बढ़ोतरी किए जाने का असर ग्लोबल मार्केट समेत भारतीय मार्केट पर भी दिखा। फेड के फैसले से भारतीय बाजार में न सिर्फ कमजोर शुरुआत देखने को मिली बल्कि बाजार गिरावट के साथ बंद हुए।

सेंसेक्स 139 अंक की गिरावट के साथ 35,600 के स्तर पर और निफ्टी 49 अंक लुढ़ककर 10,808 के स्तर पर बंद हुआ। हालांकि एनएसई पर सेक्टोरल इंडेक्स में फार्मा और ऑटो में तेजी देखने को मिली वहीं आईटी, बैंकिंग, मेटल शेयरों में गिरावट रही।

यूएस फेड ने यह संकेत भी दिया है कि वो इस साल 2 बार और दरों में बढ़ोतरी कर सकती है। 

यूएस फेडरल रिजर्व ने मीटिंग में माना कि यूएस की इकोनॉमी मजबूती की राह पर है, ऐसे में यह भार सहने में कोई परेशानी नहीं होगी। ऑफिशियल का कहना है कि इससे इकोनॉमिक ग्रोथ पर कोई असर नहीं होगा।

और पढ़ें: उत्तर कोरिया 2020 तक परमाणु हथियारों को खत्म करे : अमेरिका 

बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 3.94 अंकों की तेजी के साथ 35,743.10 पर खुला और 139.34 अंकों या 0.39 फीसदी गिरावट के साथ 35,599.82 पर बंद हुआ। दिनभर के कारोबार में सेंसेक्स ने 35,749.88 के ऊपरी और 35,488.55 के निचले स्तर को छुआ।

सेंसेक्स के 30 में से 13 शेयरों में तेजी रही। सन फार्मा (2.57 फीसदी), यस बैंक (1.17 फीसदी), इंडसइंड बैंक (1.08 फीसदी), डॉ. रेड्डी (0.73 फीसदी) और कोटक बैंक (0.55 फीसदी) में सर्वाधिक तेजी रही।

सेंसेक्स के गिरावट वाले शेयरों में प्रमुख रहे - आईसीआईसीआई बैंक (2.11 फीसदी), अडानी पोर्ट्स (1.75 फीसदी), टीसीएस (1.75 फीसदी), स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (1.72 फीसदी) और एक्सिस बैंक (1.48 फीसदी)।

बीएसई के मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांकों में मिला-जुला रुख रहा। मिडकैप सूचकांक 12.13 अंकों की गिरावट के साथ 16,065.38 पर और स्मॉलकैप सूचकांक 11.19 अंकों की तेजी के साथ 17,040.06 पर बंद हुए।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी सुबह 23.8 अंकों की गिरावट के साथ 10,832.90 पर खुला और 48.65 अंकों या 0.45 फीसदी की गिरावट के साथ 10,808.05 पर बंद हुआ। दिनभर के कारोबार में निफ्टी ने 10,833.70 के ऊपरी और 10,773.55 के निचले स्तर को छुआ।

बीएसई के 19 में से चार सेक्टरों - स्वास्थ्य सेवाएं (1.47 फीसदी), गैर-अनिवार्य वस्तु एवं सेवाएं (0.05 फीसदी), वाहन (0.05 फीसदी) और ऊर्जा (0.03 फीसदी) में तेजी रही।

बीएसई के गिरावट वाले सेक्टरों में प्रमुख रहे - सूचना प्रौद्योगिकी (1.40 फीसदी), प्रौद्योगिकी (1.32 फीसदी), उपभोक्ता सेवाएं (0.89 फीसदी), पूंजीगत वस्तुएं (0.81 फीसदी) और तेल एवं गैस (0.63 फीसदी)।

बीएसई में कारोबार का रुझान नकारात्मक रहा। कुल 1,206 शेयरों में तेजी और 1,423 में गिरावट रही, जबकि 130 शेयरों के भाव में कोई बदलाव नहीं हुआ।

और पढ़ें: श्रीनगर: आतंकियों ने की राइजिंग कश्मीर के संपादक शुजात बुखारी की हत्या, रो पड़ी महबूबा

(IANS इनपुटस के साथ)

RELATED TAG: Benchmark, Stock Market, Stocks, Shares, Bse, Nse, Nifty50,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो