भोपाल में 'एक विभाग एक कैडर' की मांग के साथ अध्यापकों के आमरण अनशन दुसरे दिन भी जारी

राज्य सरकार ने अध्यापकों का शिक्षा विभाग में संविलियन किए जाने के साथ शिक्षक कैडर देने और अन्य सुविधाओं का भरोसा दिलाया था

  |   Updated On : June 26, 2018 02:03 PM
फाइल फोटो

फाइल फोटो

भोपाल:  

मध्य प्रदेश सरकार की वादाखिलाफी से नाराज अध्यापकों के आमरण अनशन का मंगलवार को दूसरा दिन है। इस आंदोलन में भाग लेने के लिए राज्य के विभिन्न हिस्सों से अध्यापकों के पहुंचने का सिलसिला जारी है।

राज्य सरकार ने अध्यापकों का शिक्षा विभाग में संविलियन किए जाने के साथ शिक्षक कैडर देने और अन्य सुविधाओं का भरोसा दिलाया था, शिक्षकों को कैडर दे दिया गया लेकिन सुविधाओं से वंचित किए जाने के साथ उनकी वरिष्ठता को खत्म कर दिया।

इससे अध्यापक नाराज हैं और आंदोलन की राह पर है। राजधानी के शाहजहानी पार्क में सोमवार को यह आमरण अनशन शुरू हुआ था। राज्य अध्यापक संघ के प्रांताध्यक्ष जगदीश यादव ने बताया कि राज्य के अध्यापकों की मांग है कि 'एक विभाग एक कैडर' दिया जाए।

अध्यापकों का आरोप है कि अध्यापक संवर्ग को स्कूल शिक्षा विभाग के समान सहायक शिक्षक, शिक्षक और व्याख्याता पदनाम वेतन सहित समस्त सुविधाएं दिए जाने की मुख्यमंत्री ने घोषणा की थी, इसके विपरीत प्राथमिक शिक्षक, माध्यमिक शिक्षक और उच्च माध्यमिक शिक्षक बनाए जाने के कैबिनेट निर्णय में मुख्यमंत्री द्वारा घोषित सुविधाओं का जिक्र ही नहीं है।

लिहाजा अध्यापकों ने अपनी मांगों को मनवाने के लिए आंदोलन का रास्ता चुना है। रविवार को अध्यापकों ने विधानसभा के घेराव का प्रयास किया, मगर उन्हें रास्ते में रोक दिया गया।

और पढ़ें- Fifa World Cup 2018: अहम मुकाबले में आज अर्जेटीना का सामना नाइजीरिया से

First Published: Tuesday, June 26, 2018 10:45 AM

RELATED TAG: Bhopal Teachers On Hunger Strike, Teacher On Strike, Bhopal Techer, Madhya Pradesh,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो