अमित शाह को मिली TMC की चेतावनी, 72 घंटों के अंदर मांगें माफी नहीं तो होगी कानूनी कार्रवाई

  |   Updated On : August 11, 2018 11:16 PM
बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह (फाइल फोटो : PTI)

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह (फाइल फोटो : PTI)

कोलकाता:  

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) अध्यक्ष अमित शाह के पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर की गई टिप्पणी को लेकर ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस (TMC) ने कड़ा रुख अख्तियार किया है। टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन ने कहा कि अमित शाह अगर अपनी 'सीधे झूठों' के लिए माफी नहीं मांगी तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। अमित शाह ने शनिवार को पश्चिम बंगाल दौरे के दौरान ममता बनर्जी पर भ्रष्टाचार, एनआरसी सहित कई अन्य आरोप लगाए।

डेरेक ओ ब्रायन ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा, 'अमित शाह का दौरा फ्लॉप था, उन्होंने आज बंगाल का अपमान किया। वह बंगाल की संस्कृति को नहीं समझते हैं और झूठ बोलकर बंगाल का अपमान किया। अगर उन्होंने 72 घंटों के अंदर माफी नहीं मांगी तो हम उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे।'

टीएमसी नेता ने अमित शाह पर आरोप लगाया कि वे दूसरे राज्यों में सांप्रदायिक सद्भावना को बिगाड़ रहे हैं और इसी चीज को बंगाल में स्वीकार नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा, 'उन्हें (शाह) हमारे बारे में झूठ फैलाने से पहले अपना ट्रैक रिकॉर्ड देखना चाहिए।'

बता दें कि टीएमसी का बयान बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की बंगाल रैली के बाद आया है। शाह ने राषट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) का विरोध करने के कारण ममता बनर्जी पर हमला बोला और असम में भारतीयों के हितों से समझौता करने और पश्चिम बंगाल में वोट बैंक की राजनीति करने का आरोप लगाया था।

कोलकाता में रैली के दौरान शाह ने कहा था, 'जब से पार्टी (टीएमसी) सत्ता में आयी है राज्य में भ्रष्टाचार चरम पर है। जब से ममता बनर्जी राज्य में मुख्यमंत्री बनी हैं पश्चिम बंगाल ने घोटाले पर घोटाले देखे हैं।'

शाह ने ममता पर बंगाल में यह 'झूठी सूचना' फैलाने का आरोप लगाया कि एनआरसी के कारण भारत से शरणार्थियों को खदेड़ दिया जाएगा और कहा कि यह केंद्र सरकार की जिम्मेदारी है कि शरणार्थी भारत में रहें।

और पढ़ें: आर्टिकल 35-ए पर बोले फारूक अब्दुल्ला, 'जब तक मैं कब्र में नहीं चला जाता, तब तक लड़ाई लड़ता रहूंगा'

उन्होंने कहा, 'मैं बंगाल के सभी शरणार्थियों को आश्वस्त करता हूं कि बीजेपी सरकार नागरिकता संशोधन विधेयक-2016 ला रही है। इस विधेयक में अफगानिस्तान, पाकिस्तान और बांग्लादेश से आए ईसाइयों, बौद्ध और हिंदू शरणार्थियों को नागरिकता देने का प्रावधान है। किसी शरणार्थी को वापस भेजने की कोई योजना नहीं है।'

घुसपैठियों के मानवाधिकारों को लेकर चिंता व्यक्त करने वाले एनआरसी के आलोचकों पर हमला बोलते हुए शाह ने आश्चर्य जताया कि क्या कांग्रेस और तृणमूल को पश्चिम बंगाल के हिंदुओं व मुसलमानों के मानवाधिकार को लेकर चिंता नहीं है।

और पढ़ें: राजस्थान में राहुल गांधी ने फूंका चुनावी बिगुल, राफेल को लेकर पीएम मोदी पर साधा निशाना

शाह ने कहा कि अगर घुसपैठ नहीं रोकी गई तो पश्चिम बंगाल एक स्वस्थ राज्य नहीं बन पाएगा। उन्होंने कहा कि बनर्जी के शासन में घुसपैठ तेजी से बढ़ी है। शाह ने राहुल गांधी और ममता को चुनौती देते हुए कहा कि उन्हें देश की सुरक्षा या वोटबैंक की राजनीति में से अपनी प्राथमिकता स्पष्ट करनी चाहिए।

अमित शाह ने अपने भाषण की शुरूआत बंगाल से टीएमसी सरकार को उखाड़ फेंकने के नारे के साथ की थी। उन्होंने कहा कि इसके लिए वह राज्य के सभी जिलों का दौरा करेंगे।

RELATED TAG: Bjp Chief Amit Shah, Amit Shah, Tmc, Derek O Brien, Mamata Banerjee, Bjp, Trinamool Congress, Nrc, Tmc Warns Amit Shah, West Bengal,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो