Breaking
  • दार्जिलिंग से केंद्रीय सुरक्षा बलों को हटाने के फैसले के खिलाफ ममता ने कलकत्ता HC में दी अर्जी
  • पुणे के दत्तावाणी इलाके में निर्माणाधीन इमारत गिरने से 3 मजदूरों की मौत, 1 घायल

WATCH VIDEO: उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, मणिपुर और गोवा राज्यों में विधानसभा चुनाव 4 फरवरी से 8 मार्च तक, 11 मार्च को होगी मतगणना

By   |  Updated On : January 04, 2017 02:29 PM

नई दिल्ली:  

उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, मणिपुर और गोवा में विधानसभा चुनाव की तारीख की घोषणा आज चुनाव आयोग कर रहा है। राज्यों में चुनाव की तैयारी के लिए चुनाव आयोग के तारीखों की घोषणा के साथ ही इन सभी राज्यों में चुनाव आचार संहिता लागू हो जाएगी।

UPDATE

-उत्तर प्रदेश में पांचवे चरण में 49 सीटों पर 4 मार्च को होगा चुनाव

-उत्तर प्रदेश में पांचवे चरण में 52 सीटों पर 27 फरवरी को होगा चुनाव

-उत्तर प्रदेश में चौथे चरण में 53 सीटों पर 23 फरवरी को होगा चुनाव

-उत्तर प्रदेश में तीसरे चरण में 69 सीटों पर 19 फरवरी को होगा चुनाव

-उत्तर प्रदेश में दूसरे चरण में 67 सीटों पर 15 फरवरी को होगा चुनाव

 -उत्तर प्रदेश  में 11 फरवरी को पहले चरण की वोटिंग होगी

-गोवा, पंजाब में 4 फरवरी, उत्तराखंड में 15 फरवरी और मणिपुर में 4 और 8 मार्च को वोट डाले जाएंगे।

- उत्तराखंड में 70 विधानसभा सीटें, 20 जनवरी को पंजाब में नोटिफिकेशन, नामाकंन की आखिरी तारीख 27 जनवरी, 30 जनवरी तक ले सकते है नाम वापस

-11 जनवरी को पंजाब में नोटिफिकेशन, नामाकंन की आखिरी तारीख 18 जनवरी, 21 जनवरी तक ले सकते है नाम वापस, 4 फरवरी को पंजाब में चुनाव

-गोवा में 11 जनवरी, नामाकंन की आखिरी तारीख 18 जनवरी, 21 जनवरी तक ले सकते है नाम वापस 

-उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, मणिपुर और गोवा में एक साथ कराए जाएंगे 

-उम्मीदवारों को नो डिमांड सर्टिफिकेट देना जरूरी होगा।

-उम्मीदवारों को 20 हजार से ज्यादा का खर्च चेक से करना होगा

- चुनाव प्रचार में प्लास्टिक सामग्री का नहीं होगा इस्तेमाल

-मणिपुर और गोवा में प्रत्याशी 20 लाख तक ही कर सकेंगे खर्च।

यूपी, पंजाब और उत्तराखंड में सिर्फ 28 लाख तक खर्च कर पाएंगे प्रत्याशी

-कुछ जगहों पर महिलाओं के लिए अलग पोलिंग बूथ होंगे, महिला बूथ पर रहेगी केवल महिला पुलिस

-चुनाव आयोग की इसी घोषणा के साथ पांचों प्रदेश में मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट लागू हो गया।

-कई राज्यों में ईवीएम पर नाम के साथ उम्मीदवार का फोटो भी दिखेगा

-उम्मीदवारों को बताना होगा कि उनपर कोई बकाया नहीं है

-गोपनीयता बनाए रखने के लिए 30 इंच ऊंची स्टील और अन्य सामग्री से बनी छोटी केबिन का इस्तेमाल किया जाएगा

-मतदान के दौरान दिव्‍यांगों का रखा जाएगा विशेष ख्‍याल

-5 राज्यों में कुल 1 लाख 85,000 बूथ 

- हर परिवार को रंगीन वोटर गाइड मिलेगा,सभी वोटरों को फोटो वोटर स्लिप दिए जाएंगे

-5 राज्यों में 133 सीटें सुरक्षित है

-करीब 16 करोड़ मतदाता वोट डालेंगे

- पांच राज्यों की 690 विधानसभा सीटों पर होने वाले हैं चुनाव

-  पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के तारीखों की घोषणा करने वाला है चुनाव आयोग 

चुनाव आचार संहिता लागू होने के बाद सरकारें नई नीतियों और योजनाओं की घोषणा नहीं कर सकेगी।  इसके अलावा उम्मीदवारों और राजनीतिक दलों पर भी कई तरह के अंकुश लग जाते हैं। इस समय लगभग पूरा प्रशासन चुनाव आयोग के तहत काम करता है।  

सोमवार को पहले ही अर्धसैनिक बलों के प्रमुखों से बैठक की और सुरक्षा बलों की संख्या उनकी तैनाती और उनके एक जगह से दूसरी जगह जाने में लगने वाले समय की भी पूरी जानकारी ली।

विधान सभा चुनाव वाले पांचों राज्यों के मुख्य चुनाव अधिकारियों के साथ हुई बैठक में राज्य की परिस्थितियों के साथ ही इन राज्यों में चुनाव की तैयारियों पर भी चर्चा की गई।

चुनाव आयोग ने पहले ही राज्यों को ये निर्देश जारी किया था कि बोर्ड की परीक्षाओं का समय तय करने से पहले चुनाव आयोग को इसकी जानकारी दी जाए। इसके साथ ही आयोग ने निर्देशों की पूरी सूची भी तैयार कर ली है। 

उत्तर प्रदेश, पंजाब और मणिपुर ऐसे राज्य हैं जहां चुनाव के दौरान हिंसा की संभावनाएं अधिक होती हैं ऐसे में आयोग किसी भी तरह का जोखिम नहीं उठाना चाहता।

चुनाव के दौरान सुरक्षा बलों की तैनाती उनके परिवहन की पूरी कमान आयोग के ही हाथों में होती है लिहाजा हर एक जानकारी पूरी तौर पर पुख्ता कर ली गई है। 

अर्धसैनिक बलों से मिली जानकारी को सभी पांचों राज्यों के मुख्य चुनाव अधिकारियों से साझा करने के बाद अब उम्मीद है कि लग रही है कि बुधवार को आयोग प्रेस कांफ्रेंस कर चुनावी कार्यक्रम की घोषणा कर दे। 

ये भी पढ़ें: चुनाव आयोग की अहम बैठक आज, पांच राज्यों में होने वाले चुनाव की तैयारियों का लेंगे जायज़ा

गृह मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक भी बुधवार को घोषणा होने के आसार बहुत ज्यादा हैं।

चुनावों में जाने वाले सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में 403 सीटों पर चुनाव होना है और यहां पर आयोग सात चरणों में चुनाव करवा सकता है, लेकिन अन्य राज्यों में एक ही चरण में विधानसभा चुनाव करवाए जाने की संभावना है।

उत्तर प्रदेश विधानसभा का कार्यकाल मई में समाप्त होगा, लेकिन अन्य चार राज्यों के विधानसभा का कार्यकाल मार्च में ही समाप्त हो रहा है।

उत्तराखंड में 70 विधानसभा सीटों पर चुनाव होने हैं। इसके साथ ही पंजाब में 117, गोवा में 40 और मणिपुर 60 विधानसभा सीटों पर चुनाव होना है।

RELATED TAG: Election Commission, Press Conference, Assembly Election,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो