Breaking
  • कमल हसन ने किया अपने राजनीतिक पार्टी के नाम का ऐलान- 'मक्कल नीधी मैय्यम'
  • PNB घोटाला: जांच की मांग वाली याचिका का सरकार ने SC में किया विरोध -Read More »
  • प्रिया प्रकाश वारियर को सुप्रीम कोर्ट से राहत, एक्ट्रेस के खिलाफ दर्ज हुए मामलों पर लगाई रोक
  • CBI रोटोमेक के मालिक विक्रम कोठारी और उनके बेटे से दिल्ली हेडक्वार्टर में कर रही है पूछताछ
  • यूपी: पीएम मोदी करेंगे इन्वेस्टर्स समिट का आग़ाज़, सीएम योगी को व्यापार में बढ़ोतरी की उम्मीद -Read More »
  • फिल्म अभिनेता कमल हासन आज अपनी पार्टी करेंगे लांच, कहा- गांव के विकास पर होगी नज़र -Read More »
  • पीएनबी फर्जीवाड़ा: 11 हज़ार करोड़ नहीं 280 करोड़ रुपये का लिया था लोन- नीरव के वकील -Read More »
  • पीएनबी घोटाला: सीबीआई ने जनरल मैनेजर रैंक के अधिकारी को किया गिरफ्तार

वार्णिका छेड़छाड़ मामले में विकास बराला के खिलाफ आरोप तय, फैसला 13 अक्टूबर को

  |  Updated On : October 11, 2017 04:00 PM
वार्णिका छेड़छाड़ मामले में विकास बराला और आशीष के खिलाफ फैसला सुरक्षित

वार्णिका छेड़छाड़ मामले में विकास बराला और आशीष के खिलाफ फैसला सुरक्षित

नई दिल्ली:  

हरियाणा के वरिष्ठ आइएएस अधिकारी की बेटी वर्णिका कुंडू से छेड़छाड़ व अपहरण की कोशिश के आरोपी हरियाणा भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला और उसके दोस्त आशीष के खिलाफ मंगलवार को अदालत में आरोप तय कर लिए गए है। अगली सुनवाई 13 अक्टूबर को होगी। 

इस मामले में विकास बराला और आशीष पर लगी धाराओं को लेकर कोर्ट में काफी बहस हुई। जिरह के दौरान विकास बराला के वकील ने किडनैपिंग का केस दर्ज करने को गलत और बेबुनियाद ठहराया।

एक ओर कोर्ट में वर्णिका कुंडू अपने पिता के साथ मौजूद रहीं वहीं विकास बराला और आशीष भी कोर्ट में उपस्तिथ रहे। इस दौरान विकास बराला काफी भावुक दिखे, आँखों में आंसू लिए वो कोर्ट रूम के बाहर और फिर अंदर खड़े रहे।

यह भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट का फैसला- नाबालिग पत्नी के साथ यौन संबंध 'रेप' के दायरे में, जानें क्या कहा कोर्ट ने आज

वहीं वर्णिका के वकील और पब्लिक प्रॉसिक्यूशन ने वर्णिका के बयान को कोर्ट में पढ़कर सुनाया।  कोर्ट ने सारी जिरह सुनने के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया है और मामले की अगली सुनवाई 13 अक्टूबर को होगी।  

इससे पहले शुक्रवार को अदालत में विकास बराला और आशीष के खिलाफ आरोप तय होने थे, लेकिन बचाव पक्ष ने एक याचिका दायर कर दी। उन्होंने घटना के बाद देर रात की पुलिस थाने की सीसीटीवी फुटेज मांगी। इस पर अदालत ने पुलिस को दो दिन का समय दे दिया।

यह भी पढ़ें: SC में सरकार ने इच्छामृत्यु का किया विरोध, कहा-कानून बना तो होगा दुरुपयोग

RELATED TAG: Vanika Kundu, Vikas Barala, Molestation Case,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो