Breaking
  • आज 2 बजे से 5 बजे के बीच मुंबई एयरपोर्ट का मेन रनवे बंद रहेगा
  • बिहार सरकार ने निपाह वायरस से बचने के लिए जारी की एडवायजरी
  • लोगों ने माना 2019 में मोदी फिर बनेंगे पीएम, लेकिन लोकप्रियता में आई कमी : सर्वे -Read More »
  • जम्मू-कश्मीर: तंगधार में सेना से मुठभेड़ में पांच आतंकी ढेर, ऑपरेशन जारी, पढ़ें पूरी खबर -Read More »

मध्यप्रदेश: कर्ज और सूदखोरों से परेशान होकर दो किसानों ने की खुदकुशी, 1 ने की कोशिश

  |   Updated On : June 20, 2017 12:08 AM
मध्यप्रदेश

मध्यप्रदेश

नई दिल्ली :  

मध्यप्रदेश में कर्ज और सूदखोरों से परेशान होकर किसानों की आत्महत्या का सिलसिला जारी है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के गृह जनपद सीहोर और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के संसदीय क्षेत्र विदिशा में एक-एक किसान ने आत्महत्या कर ली। वहीं हरदा में एक किसान ने कीटनाशक पीकर जान देने की कोशिश की। राज्य में आठ दिन के भीतर 13 किसान आत्महत्या कर चुके हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के गृह जनपद सीहोर में एक और किसान ने सोमवार सुबह अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सीहोर में पिछले आठ दिनों के दौरान यह चौथे किसान ने खुदकुशी की है। पुलिस के अनुसार, दोहरा थाना क्षेत्र के जिमोनिया खुर्द में बंशीलाल (54) ने सोमवार सुबह फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

परिजनों के मुताबिक, "बंशीलाल के पास नौ एकड़ जमीन है और उस पर बैंक और सूदखोर का नौ लाख रुपये से ज्यादा कर्ज था। उसी के चलते बंशीलाल ने आत्महत्या की है।"

दोहरा थाने के प्रभारी मुन्ना लाल चौधरी ने कहा, "बंशीलाल ने आत्महत्या की है, मगर कारण क्या है, इसका खुलासा नहीं हो पाया है। जहां तक कर्ज से परेशान होने की बात है, तो वह जांच के बाद ही पता चलेगा।"

और पढ़ें: पंजाब के किसानों को अमरिंदर सिंह का तोहफा, 2 लाख रुपये तक की कर्जमाफी का ऐलान

वहीं विदिशा जिले के करारिया थाने के सायर बमौरा गांव के जीवन सिंह (35) का सोमवार को खेत पर लगे पेड़ पर लटकता हुआ शव मिला। थाना प्रभारी रचना मिश्रा के मुताबिक, उसका अपनी पत्नी से विवाद हुआ था, और वह रात को ही घर से चला गया था। संभव है कि उसने पारिवारिक तनाव के चलते यह कदम उठाया हो। वहीं गांव के लोग जीवन पर कर्ज होने की बात कह रहे हैं।

इसके अलावा सोमवार की सुबह हरदा जिले के हंडिया थाना क्षेत्र के बेड़ी गांव के मुरलीधर बेलदार (25) को कीटनाशक पीने पर गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हंडिया थाने के प्रभारी सिद्धार्थ प्रियदर्शन ने बताया कि मुरलीधर ने कीटनाशक पिया है, विस्तृत ब्यौरा अभी नहीं मिल पाया है। मगर घरेलू विवाद को आत्महत्या की कोशिश की वजह बताया जा रहा है।

और पढ़ें: अच्छे और बुरे आतकंवाद जैसा कुछ नहीं, मसूद को बचाने वाले चीन ने कहा- वो आतंक पीड़ित

राज्य में बीते आठ दिनों में जिन 13 किसानों ने आत्महत्या की है, उनमें से चार आत्महत्या मुख्यमंत्री शिवराज के गृह जनपद सीहोर में हुई है। इसके पहले सीहोर के जजना गांव में पांच लाख रुपये के कर्जदार दुलीचंद, नसरुल्लागंज के लाचौर गांव के डेढ़ एकड़ भूमि के मालिक मुकेश यादव (23), सिद्दीकीगंज थाना क्षेत्र के बापचा गांव के 75 वर्षीय बुजुर्ग किसान खाजू खां ने आत्महत्या कर ली थी।

राज्य में किसानों ने कर्जमाफी और उपज के उचित मूल्य देने की मांग को लेकर एक से 10 जून तक आंदोलन किया था। इस दौरान मंदसौर में छह जून को पुलिस की गोलीबारी में छह किसानों की मौत हो गई। किसानों को अपनी मांगों पर सरकार की तरफ से अभी तक कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला है। गोलीकांड के बाद से किसानों में आत्महत्या का दौर चल पड़ा है।

और पढ़ें: राष्ट्रपति चुनाव: रामनाथ कोविंद के रायसीना रेस में शिवसेना बन रही बाधा, विपक्ष ने नहीं खोले पत्ते

RELATED TAG: Madhya Pradesh, Farmers Suicide,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो