सुप्रीम कोर्ट ने राज्यों में POSCO के तहत लंबित मामलों पर हाईकोर्ट से मांगा जवाब

  |   Updated On : March 12, 2018 06:33 PM
प्रतीकात्मक फोटो

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:  

सुप्रीम कोर्ट ने देश में नाबालिगों के साथ बढ़ते यौन अपराधों की संख्या को देखते हुए राज्यों में लंबित मामलों की स्थिति पर सभी हाईकोर्ट से जवाब मांगा है। सर्वोच्च न्यायालय सभी हाईकोर्ट से पॉस्को एक्ट के तहत लंबित मामलों की सूची मांगी है।

याचिकाकर्ता ने मामले की सुनवाई के दौरान कोर्ट को बताया कि साल 2006 तक जारी किए गए NCRB आंकड़ों के अनुसार बच्चों के साथ यौन अपराध के 89 मामले लंबित है।

याचिकाकर्ता ने कहा कि 2006 के बाद से NCRB साल 2017 तक के आंकड़े मुहैया नहीं करा रहा है। लेकिन मुझे यकीन है कि अब तक यह आंकड़ा 90% को पार कर चुका होगा।

इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने हाई कोर्ट से सभी लंबित मामलों की जानकारी मांगी है। इस मामले में अगली सुनवाई 28 अप्रैल को होगी।

यह भी पढ़ें : नाराज़ नरेश अग्रवाल बीजेपी में हुए शामिल, एसपी ने नहीं दिया था राज्यसभा का टिकट

NCRB के अनुसार पॉस्को एक्ट के तहत दर्ज 1,01,326 मामलों में सिर्फ 11 हज़ार केसों का ही निपटारा हो पाया है। 90205 मामले अभी भी लंबित हैं। 

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट दिल्ली में हुए 8 महीने की बच्ची के साथ रेप के मामले में सुनवाई कर रहा है।

आपको बता दें कि पिछली सुनवाई के दौरान कोर्ट ने केंद्र सरकार से पूछा था कि पॉस्‍को के तहत दर्ज मामलों में जांच पूरी करने में कितना वक्त लगना चाहिए। 

कोर्ट ने केंद्र और याचिकाकर्ता से पूछा कि था की पॉस्‍को एक्ट के तहत देश भर में कितने ट्रायल लंबित हैं?

और पढ़ें: नेपाल : काठमांडू एयरपोर्ट पर क्रैश हुआ बांग्लादेशी विमान

RELATED TAG: Supreme Court, Pocso Cases, Protection Of Children From Sexual Offences,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो