Breaking
  • राहुल गांधी के अध्यक्ष बनने की घोषणा आज, 2019 लोकसभा जीतने के लिए ये होगी चुनौती -Read More »

पीएसएलवी 37 की सफलतापर स्पेसएक्स ने की इसरो की तारीफ और दी चुनौती

  |  Updated On : February 18, 2017 12:30 AM

ख़ास बातें
  •  अमेरिकी प्रतिद्वंदी कंपनी स्पेसएक्स ने की इसरो की तारीफ
  •  तारीफ संग इसरो को चुनौैती, अंतरिक्ष रॉकेट वापस लाएगा स्पेसएक्स
  •  कम लागत में रॉकेट लॉन्च करने की इसरो की  कला की मुरीद है स्पेसएक्स 

नई दिल्ली:  

एक रॉकेट से एक बार में 104 उपग्रहों को स्थापित करने पर इसरो की सफलता का डंका पूरे विश्व के लिए मिसाल बन गया है। और इस बात की सराहना अंतरिक्ष क्षेत्र में काम करने वाली अमेरिकी निजी कंपनी स्पेसएक्स ने भी की है। स्पेसएक्स ने ना सिर्फ इसरो की तारीफ की, साथ ही साथ चुनौती भी दे डाली।

स्पेसएक्स के संस्थापक एलन रस्क ने ट्वीट के जरिए इसरो की तारीफ की। मस्क ने ट्वीट कर कहा, 'हां, इसरो की यह बेहतरीन उपलब्धि है। बहुत प्रभावशाली!' मस्क ने यह बात एक ट्वीट के जवाब में कही। इसके बाद मस्क ने एक और ट्वीट कर कहा, 'वे भारत को गौरवान्वित कर रहे हैं।'

रस्क ने इसरो की तारीफ करने कुछ समय बाद फिर ट्विटर पर लिखा,' दिन में रॉकेट लॉन्च और फिर सप्ताह के अंत में लैंडिंग। अपोलो लॉन्च पैड से स्पेसएक्स की पहली उड़ान।' बता दें कि स्पेसएक्स कंपनी रॉकेट को वापस पृथ्वी पर लाएगी। रॉकेट्स को वापस पृथ्वी पर लाकर उन्हें फिर अंतरिक्ष में भेजने के लिए तैयार करने से लागत में भारी कमी जाएगी।

इसे भी पढ़ें: विदेशी सेटेलाइट लांच कर इसरो ने बनाया विश्व रिकॉर्ड, ग्लोबल मीडिया ने बांधे तारीफ़ो के पुल

रस्क इसरो की कम लागत में रॉकेट को लॉन्च करने की कला के मुरीद है। रस्क खुद सैटलाइट लॉन्च की लागत को कम करने के महत्वाकांक्षी प्रॉजेक्ट पर काम कर रहे हैं। कंपनी का लक्ष्य है रॉकेट उद्योग में क्रांतिकारी बदलाव लाना, जो अब तक हर लॉन्च के बाद मशीनरी और रॉकेट के हिस्सों को दोबारा इस्तेमाल नहीं कर पाता। ऐसे में अगर स्पेसएक्स अपने आने वाले लॉन्च को सफलतपूर्वक कर लेता है तो ये एक अनूठी उपलब्धि होगी ।

इसे भी पढ़ें: PSLV से विदेशी कमर्शियल सैटेलाइट्स लॉन्च कर ISRO कर रहा है ताबड़तोड़ कमाई

हालांकि इसरो भी ऐसी तकनीकि को विकसित करने कोशिश में लगा हुआ है। लेकिन स्पेसएक्स की बराबरी कर पाना फिलहाल उसके लिए मुश्किल होगा। इस मामले में इसरो अपने प्रतिद्वंद्वियों को तभी पछाड़ सकता है जब वह इस तकनीक को काफी तेजी से विकसित करे।

RELATED TAG: Isro,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो