Section 377: एप्पल के सीईओ टिम कुक से लेकर इन लोगों ने गर्व से कहा, हैं समलैंगिक

भारत ऐसे देशों की सूची में शामिल हो गया है जिन्होंने समलैंगिक संबंधों को अपराध के दायरे से बाहर कर दिया है।

  |   Updated On : September 07, 2018 04:13 PM
Section 377 of IPC scrapped

Section 377 of IPC scrapped

नई दिल्ली:  

सुप्रीम कोर्ट ने गुरूवार को एक ऐतिहासिक फैसला देते हुए समलैंगिकता संबंधों को अपराध के दायरे से बाहर कर दिया है। फैसले में कहा गया कि सेक्शुअल ओरिएंटेशन (यौन रुझान) बयॉलजिकल है यानी प्राकृतिक है। इस पर रोक संवैधानिक अधिकारों का हनन है। कोर्ट ने कहा LGBT समुदाय के अधिकार भी अन्य लोगों की तरह हैं।

इस फैसले पर विश्व में लोगों की अनेक प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं। जहां लोग एक तरफ इस पर खुल कर अपनी खुशी का इजहार कर रहे हैं और इसे केवल एक शुरुआत के तौर पर देख रहे हैं। वहीं लोगों में इस कानून को लेकर अभी भी गुस्सा है, और वह समलैंगिक संबंधों को सहजता से स्वीकार नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे लोगों का मानना है कि यह बिल्कुल अप्रकृतिक है और उनकी संस्कृति पर खतरा है। यह दुखद है कि आज भी कई लोग LGBT समुदाय के अधिकारों पर बात नहीं करते हैं। जिन्हें आज अलग-अलग देशों में उनके आधारभूत मानव अधिकारों से वंचित रखा गया है। खैर, भारत ऐसे देशों की सूची में शामिल हो गया है जिन्होंने समलैंगिक संबंधों को अपराध के दायरे से बाहर कर दिया है।

यह भी पढ़ें- धारा 377: सुप्रीम कोर्ट ने कहा, समलैंगिक संबंध बनाना अपराध नहीं

इस फैसले के बाद से कई लोगों ने खुल कर अपने विचार रखें और पूरी दुनिया के सामने गर्व से स्वीकार किया कि वह गे, लेस्बियन, ट्रांस्जेंडर हैं। इसके साथ ही कई लोगों ने हमेशा से खुल कर यह स्वीकारा है कि वह होमोसेक्सुअल हैं। वकील और एक्टिविस्ट दानिश शेख, जो मानव अधिकारों के क्षेत्र में काम करते हैं, ने सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने पर ट्वीट करते हुए अपनी खुशी जाहिर की। उन्होंने ट्वीट में लिखा कि, 'मुझे खुशी है कि अंततः मेरे देश की सर्वोच्च न्यायालय ने मुझे इस देश का समान नागरिक का अधिकार दे दिया। अब मेरे पास भी प्यार करने का अधिकार है।'

और पढ़ें- जानें क्या है समलैंगिकता का प्रतीक इंद्रधनुषी झंडे का इतिहास

दुनिया भर में कई लोगों के रिएक्शन इस फैसले पर आ रहे हैं। इस कदम को एक महत्वपूर्ण फैसले के तौर पर देखा जा रहा है। इसके साथ ही कई दिग्गज कंपनी के सीईओ हैं जिन्होंने गर्व से कहा है कि वह समलैंगिक हैं। यहां तक की दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी एप्पल भी सार्वजनिक रूप से समलैंगिक अधिकार और उनकी भावनाओं की कद्र करती है। ऐसे ही कुछ टॉप कंपनी के सीईओ भी हैं, जिन्होंने अपने 'गे' होने की बात सार्वजनिक रूप से स्वीकार की। टिम कुक, एप्पल के सीईओ, लीवाइस के ग्लोबल प्रेसिडेंट रॉबर्ट हैनसन, बरबेरी फैशन ब्रेंड के सीईओ क्रिस्टोफर बैली, पे-पाल के फाउंडर पीटर थील उन उन लोगों में शामिल हैं जिन्होंने शुरू से ही यह स्वीकारा है कि वह समलैंगिक हैं। इस दिशा में इन लोगों का कार्य काफी सराहनीय रहा है।

First Published: Friday, September 07, 2018 01:13 PM

RELATED TAG: Supreme Court, Homosexuality, Section 377, Same Sex, Section 377 Scrapped, Lgbt Community, Lgbt, People Reaction On Section 377,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो