Breaking
  • IPL 2018 FINAL: सनराइजर्स हैदराबाद ने चेन्नई सुपर किंग्स को दिया 179 का लक्ष्य
  • चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान एमएस धोनी ने जीता टॉस, पहले फील्डिंग का फैसला किया
  • मुंबई: गोरेगांव (पश्चिम) एसवी रोड पर टेक्निक प्लस वन की बिल्डिंग में आग लगी
  • केरल: निपाह वायरस के कारण एक अन्य की मौत, मरने वालों की संख्या 14 हुई
  • ओमान चांडी को आंध्र प्रदेश का कांग्रेस प्रभारी नियुक्त किया गया, दिग्विजय सिंह की जगह लेंगे
  • पीएम मोदी 44वीं बार करेंगे मन की बात, छात्रों को दिखाएंगे रास्ता पढ़ें पूरी खबर -Read More »
  • पीएम मोदी दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे पर करेंगे रोड शो, सोलर पावर से लैस हाईवे का करेंगे उद्घाटन -Read More »

राजनाथ सिंह ने कहा- युवाओं में बढ़ता कट्टरवाद पूरी दुनिया के लिये चुनौती

  |   Updated On : March 15, 2018 12:29 AM
गृहमंत्री राजनाथ सिंह

गृहमंत्री राजनाथ सिंह

नई दिल्ली :  

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि युवाओं में कट्टरवाद का बढ़ना आज के समय में दुनिया के लिये चुनौती है। उन्होंने बिना पाकिस्तान का नाम लिये हुए कहा कि कुछ देश ऐसे हैं जो आतंकियों को शरण दे रहे हैं।

आतंक विरोधी सम्मेलन 'चेंजिंग कंटूअर्स ऑफ ग्लोबल टेरर' में दिये अपने भाषण में उन्होंने कहा कि आतंकियों को पनाह देने वाले देशों के कारण ये युवाओं में बढ़ते कट्टरवाद को बल मिला है। जिसके कारण पूरी दुनिया में आतंकवाद बढ़ा है।

उन्होंने कहा, 'लोगों को कट्टरवादी बनाया जा रहा है, खासकर युवाओं को जो इस समय जारी है और ये तमाम चुनौतियां जिसका सामना पूरी दुनिया कर रही है उनमें ये सबसे बड़ी चुनौती है।'

उन्होंने कहा, 'कई देशों ने इस समस्या की पहचान की है और इस कट्टरवाद को रोकने के लिये कदम भी उठा रहे हैं। मुझे ये बताते हुए खुशी हो रही है भारत ने समय रहते ऐसे मॉड्यूल्स जो आतंकी हमले कर सकते थे उन्हें नष्ट कर दिया गया है।'

और पढ़ें: उप चुनाव परिणाम केंद्र और राज्य सरकार के खिलाफ जनादेश: अखिलेश

गृहमंत्री ने कहा कि आतंकियों को पनाह देने से ये समस्या और बढ़ी है और दुनिया में आतंकवाद तेजी से बढ़ा है। देशों के समर्थन के कारण आतंकियों को संसाधनों, निर्देशों और वो सारे संसाधन जो उन्हें नहीं मिलने चाहिये वो मिलते हैं।

उन्होंने कहा, 'आतंकियों की गतिविधियों को रोकने की कोई भी कोशिश और कार्रवाई सीधे तौर पर उस देश के खिलाफ भी मानी जा सकती है जो देश उसे समर्थन दे रहे होते हैं। ये खतरा बड़ा होता है।'

उन्होंने कहा कि अलकायदा जिसे एक दशक पहले वो आतंक का पर्याय माना जाता रहा है। लेकिन पिछले कुछ सालों में उन्होंने मिडिल ईस्ट से अपना बेस दक्षिण एशिया में शिफ्ट किया है जो भारत के लिये चिंता का विषय है।

और पढ़ें: गुजरात विधानसभा में मारपीट, 3 कांग्रेस विधायक निलंबित

उन्होंने कहा कि सरकार आईएसआईएस के सोशल मीडिया में फैलते जाल को लेकर काफी सतर्कता बरत रही है। ताकि वो विचारधारा को लेकर लोगों का ब्रेनवॉश करने की कोशिशों को रोका जा सके।

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, 'आईएसआईएस का मुस्लिम युवाओं को कट्टरपंथ में ले जाने का खतरा बरकरार है। ऐसे आतंकी जो अकेले आतंकी हमले कर रहे हैं उनकी संख्या में बढ़ोतरी हुई है और फ्रांस और ऑस्ट्रेलिया में हुए आतंकी हमले इसके उदाहरण हैं।'

उन्होंने कहा कि आईएसआईएस का प्रोपेगैंडा का असर भारत के सामाजिक व्यवस्था पर असर नहीं पड़ा है और मुझे विश्वास है कि उसका असर भविष्य में भी नहीं पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि भारत आतंक को लेकर दुनिया के तमाम देशों से सहयोग कर रहा है।

 और पढ़ें: मुरझाया कमल, यूपी-बिहार में तीनों लोकसभा सीटों पर BJP का सूपड़ा साफ

RELATED TAG: Radicalisation Of Youth, Rajnath Singh, Al Qaida, Isis,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो