लेटलतीफी की वजह से भारतीय रेलवे को लगा 1.82 लाख करोड़ रुपये का चूना, देरी से चल रहे 200 प्रॉजेक्ट्स

  |   Updated On : August 12, 2018 02:46 PM
भारतीय रेल के 200 से अधिक प्रॉजेक्ट्स में हो रही देरी (फाइल फोटो)

भारतीय रेल के 200 से अधिक प्रॉजेक्ट्स में हो रही देरी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

भारतीय रेल के 200 से अधिक प्रॉजेक्ट्स में अलग-अलग कारणों से हो रही देरी की वजह से देश को कुल 1.82 लाख करोड़ रुपये की चपत लग चुकी है। सांख्यिकी एवं कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक रेल मंत्रालय की 204 प्रॉजेक्ट्स की कुल लागत 1.82 लाख करोड़ रुपये बढ़ चुकी है।

मंत्रालय केंद्र सरकार की 150 करोड़ रुपये या उससे अधिक लागत वाली प्रॉजेक्ट्स की निगरानी करता है। मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार इस साल अप्रैल में इन 204 प्रॉजेक्ट्स की कुल वास्तविक लागत 1,29,339.96 करोड़ रुपये थी। इसकी अब कुल अनुमानित लागत 3,12,026.83 करोड़ रुपये हो चुकी है, जो लागत में 141.25% की वृद्धि को दिखाता है।

मंत्रालय ने अप्रैल में भारतीय रेल की 330 प्रॉजेक्ट्स की समीक्षा की थी। उसकी रिपोर्ट के अनुसार इनमें से 46 परियोजनाएं अपने समय से तीन महीने से 261 महीने तक की देरी से चल रही हैं। रेल मंत्रालय के बाद बिजली क्षेत्र दूसरा ऐसा क्षेत्र है जहां प्रॉजेक्ट्स की लागत सबसे ज्यादा बढ़ी है।

मंत्रालय ने बिजली क्षेत्र की 114 प्रॉजेक्ट्स की समीक्षा के आधार पर बताया कि 47 प्रॉजेक्ट्स की लागत 70,940.81 करोड़ रुपये तक बढ़ चुकी है। इनकी कुल वास्तविक लागत 1,84,243.07 करोड़ रुपये थी।

और पढ़ें- NRC पर बवाल, कांग्रेस बोली भारत ने सबको दिया शरण, रमन सिंह बोले- देश को कहां ले जाना चाहते हैं

इनकी अनुमानित लागत अब 2,55,183.88 करोड़ रुपये हो चुकी है। इनमें से 61 परियोजनाएं अपने समय से दो से 135 महीने तक की देरी से चल रही हैं।

RELATED TAG: Railways Project, Railway Ministry, Indian Railways, Power Sector, Railways,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो