ऑड-ईवन पर संशय बरकरार, NGT के केजरीवाल सरकार से सवाल, जानें किन-किन देशों ने अपनाया फॉर्मूला

  |  Updated On : November 10, 2017 05:12 PM

नई दिल्ली:  

दिल्ली की केजरीवाल सरकार प्रदूषण का हल ऑड-ईवन स्कीम से निकाले की कोशिश कर रही है। हालांकि भारत ऑड-ईवन स्कीम लागू करने वाला पहला देश नहीं है। इससे पहले भी कई देश ऑड-ईवन स्कीम के ज़रिए प्रदूषण पर लगाम लगाने की कोशिश कर चुके हैं। 

हालांकि एनजीटी ने केजरीवाल सरकार की इस योजना पर सवाल उठाते हुए इस स्कीम को फिलहाल लागू करने से मना कर दिया है। इस सबके बीच आइए जानें और किन देशों में लागू हुआ है ऑड-ईवन फॉर्मूला।  

फ्रांस

फ्रांस का पेरिस भी प्रदूषण की समस्या को देखते हुए ऑड-ईवन लागू कर चुका है। सबसे पहले यह फॉर्मूला साल 1997 में लागू किया था। इसके बाद इस दोबारा 2014 में लागू किया गया।

चीन

चीन का बीजिंग और भारत की दिल्ली पूरी दुनिया में अत्याधिक प्रदूषण के लिए प्रसिद्ध है। प्रदूषण से निजात पाने के लिए चीनी सरकार ने पहली बार ऑड-ईवन फॉर्मूला साल 2008 में लागू किया था। इस फॉर्मूले को ओलिंपिक खेलों के दौरान लागू किया गया था।

ऑड-ईवन के दौरान डीटीसी और क्लस्टर बसों में मुफ्त होगी यात्रा

मेक्सिको

मेक्सिको की राजधानी मेक्सिको सिटी में ऑड-ईवर फॉर्मूला सबसे पहले 1984 में लागू किया गया था जोकि 1993 तक चला। यहां इस नियम का उल्लंघन करने पर दो हज़ार रुपये से लेकर चार हज़ार रुपये तक का जुर्माना लगाया गया था।

NGT ने केजरीवाल सरकार से पूछा- किस आधार पर ऑड-ईवन योजना कर रहे लागू, मांगी रिपोर्ट

इससे प्रदूषण में खासी कमी आई थी लेकिन बाद में लोगों ने दो अलग-अलग नंबर की कार खरीदनी शुरू कर दी थी जिससे यह योजना ठंडे बस्ते में चली गई और इसे बंद करना पड़ा।

कोलंबिया

कोलंबिया की राजधानी बोगोटा में भी प्रदूषण से निजात पाने के लिए ऑड-ईवन स्कीम लागू की गई थी। हालांकि बाद में यहां भी इसका असर कुछ खास न होता देख और दूसरे नंबर की भी गाड़ी खरीदने के चलन को देखते हुए इस स्कीम को बंद करना पड़ा था।

यह भी पढ़ें: पद्मावती विवाद: बीजेपी विधायक ने कहा- ऐतिहासिक तथ्यों के साथ छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं होगी

कारोबार से जुड़ी ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

RELATED TAG: Odd Even, Delhi,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो