Breaking
  • ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को एक इनिंग और 41 रन से हराया, 3-0 से एशेज सीरीज़ पर जमाया कब्ज़ा
  • सीएम विजय रुपाणी ने राजकोट पश्चिम सीट से दर्ज़ की जीत, कांग्रेस के राजगुरु शंकर को हराया
  • दिल्ली: पीएम मोदी शीतकालीन सत्र में हिस्सा लेने पहुंचे संसद, दिखायी विक्टरी साइन
  • मुंबई के खैरानी रोड स्थित एक दुकान में लगी आग, 12 लोगों की मौत

निर्मला सीतारमण का चीन को जवाब: 'अरुणाचल हमारा क्षेत्र है, हम वहां जाएंगे'

  |  Updated On : November 11, 2017 07:39 PM
रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण (फाईल फोटो)

रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण (फाईल फोटो)

नई दिल्ली:  

रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को कहा कि अरुणाचल प्रदेश भारत का अभिन्न अंग है और इस मुद्दे पर दूसरों के विचार भारत के लिए मायने नहीं रखते। कुछ दिन पहले सीतारमण के अरुणाचल दौरे को लेकर चीन ने सवाल उठाए थे।

अरुणाचल यात्रा पर चीन की प्रतिक्रिया पर उन्होंने कहा, 'समस्या क्या है? यहां कोई समस्या नहीं है। यह हमारा क्षेत्र है, हम वहां जाएंगे।' रक्षामंत्री ने कहा, 'हमें इस मुद्दे पर किसी और के नजरिए की चिंता नहीं है।'

सीतारमण ने पांच नवंबर को अरुणाचल प्रदेश के अग्रिम सैन्य चौकी का दौरा किया था। उन्होंने यहां रक्षा तैयारियों और वास्तिवक नियंत्रण रेखा पर स्थिति का जायजा लिया था।

चीन ने अगले दिन ही रक्षामंत्री के दौरे का विरोध जताया था और कहा था कि 'विवादित क्षेत्र' में इस दौरे से सीमा पर शांति नहीं आएगी। चीन अरुणाचल प्रदेश को दक्षिण तिब्बत का हिस्सा मानता है, भारत चीन के इस दावे को कड़ाई से अस्वीकार करता रहा है।

चीन और भारत के बीच सबंध में कड़वाहट की वजह दलाईलामा और तिब्बती शरणार्थी होने के सबंध में पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा, 'सभी मुद्दे का अपना एक 'प्रभाव' होता है।'

उन्होंने कहा, 'किसी एक मुद्दे पर संबंध बनाए और तोड़े नहीं जा सकते। सभी मुद्दों का अपना एक अलग प्रभाव होता है।' रक्षामंत्री आगामी गुजरात विधानसभा चुनाव प्रचार के लिए गुजरात में हैं।

कुलभूषण जाधव के मुद्दे पर उन्होंने कहा, 'भारत उन्हें वापस लाने के लिए हरसंभव प्रयास कर रहा है और अगर पाकिस्तान उनकी पत्नी को उनसे मिलने देता है तो यह एक अच्छी मानवीय पहल होगी।'

और पढ़ें: करन जौहर बोले- मैं जो हूं उस पर गर्व है, अपनी किताब 'एन अन्सूटेबल ब्वॉय' में सब कह चु​का ​हूं

सीतारमण ने कहा, 'कुलभूषण जाधव का मामला अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय में लंबित है और भारत उन्हें रिहा करवाने का हरसंभव प्रयास कर रहा है। मैं नहीं जानती कि उनकी पत्नी को उनसे मिलने देने की अनुमति देने में पाकिस्तान का पक्ष क्या है लेकिन यह एक अच्छी मानवीय पहल है और इससे उनका हौसला बढ़ेगा।'

जम्मू एवं कश्मीर पर मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार आतंकवाद पर नकेल कसने के लिए कदम उठा रही है और राज्य पुलिस के काम की प्रशंसा की।

सीतारमण ने कहा, 'पिछले एक वर्षों में, आप देखेंगे कि पथराव की घटना में कमी आई है और मैं इसका श्रेय जम्मू एवं कश्मीर पुलिस को देना चाहती हूं। राज्य सरकार एक चुनी हुई सरकार है और वे लोग इन मुद्दों को सुलझाने के लिए गांवों का दौरा कर रहे हैं।'

और पढ़ें: 'ये है मोहब्बतें' की एक्ट्रेस अनीता हसनंदानी ने बिग बॉस 11 को बताया सबसे फेक सीजन

RELATED TAG: Nirmala Sitharaman, Arunachal Pradesh,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो