सपा कलह पर एन डी तिवारी की मुलायम को सलाह, बेटे अखिलेश को सौंपे पार्टी की विरासत

By   |  Updated On : January 08, 2017 10:37 PM
नारायण दत्त तिवारी अपनी पत्नी के साथ (फाइल फोटो)

नारायण दत्त तिवारी अपनी पत्नी के साथ (फाइल फोटो)

ख़ास बातें
  •  सपा में पिता और बेटे के बीच चल रही लड़ाई को उत्तर प्रदेश के पूर्व मुखमंत्री नारायण दत्त तिवारी ने खत्म करने की अपील की है
  •  नारायण दत्त तिवारी ने मुलायम सिंह यादव को चिट्ठी लिखकर अखिलेश यादव को पार्टी की विरासत सौंपे जाने की अपील की है

New Delhi:  

समाजवादी पार्टी में पिता और बेटे के बीच चल रही लड़ाई को उत्तर प्रदेश के पूर्व मुखमंत्री नारायण दत्त तिवारी ने खत्म करने की अपील की है। नारायण दत्त तिवारी ने मुलायम सिंह यादव को चिट्ठी लिखकर अखिलेश यादव को पार्टी की विरासत सौंपे जाने की अपील की है।

तिवारी ने लिखा है, 'पिछले कुछ समय से समाजवादी पार्टी में चल रहे विवाद को लेकर मैं काफी दुखी हूं। मैंने आपको सदा छोटे भाई के रूप में माना है और अखिलेश यादव को अपने भतीजे के रूप में देखा है। मेरा सुझाव है और विनम्र निवेदन भी है कि आप अपने पुत्र अखिलेश यादव को पार्टी का दायित्व सौंपे और पूरा आशीर्वाद दे।'

अखिलेश की तारीफ करते हुए तिवारी ने लिखा है, 'अपनी योग्यता और विनम्र स्वभाव के कारण अखिलेश यादव देश की युवा पीढ़ी के अग्रणी नेता के रुप में स्थापित हो चुके हैं औऱ सभी दलों एवं पार्टियों के नेता इस सत्य को स्वीकार करते हैं।'

इससे पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी मुलायम और अखिलेश के बीच चल रही लड़ाई में अखिलेश का खुलकर पक्ष लेते हुए उन्हें आशीर्वाद दिया था।

मुलायम सिंह को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष से हटाए जाने के बाद पिता और बेटे अब आमने-सामने हैं। अखिलेश को जहां उनके चाचा रामगोपाल यादव का साथ मिला हुआ है वहीं शिवपाल यादव बड़े भाई मुलायम सिंह यादव की सरपरस्ती में खम ठोक रहे हैं। दोनों धड़ा पार्टी के चुनाव चिह्न को लेकर सोमवार को चुनाव आयोग के समक्ष बहुमत की दावेदारी करेगा।

RELATED TAG: Narayan Dutt Tiwari,

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो