मुजफ्फरपुर कांड पर तेजस्वी ने लोगों से किया सवाल, क्या नीतीश जैसा सीएम चाहेंगे जो बेटियों की इज्जत भी न बचा पाए

इस विरोध प्रदर्शन में राहुल गांधी से लेकर अरविंद केजरीवाल और डी राजा से लेकर समाजवादी पार्टी तक के नेता शामिल हुए और तेजस्वी के साथ एकजुटता दिखाई।

  |   Updated On : August 04, 2018 08:15 PM
जंतर-मंतर पर कैंडल मार्च निकालते तेजस्वी यादव समेत विपक्षी दल (फोटो - ANI)

जंतर-मंतर पर कैंडल मार्च निकालते तेजस्वी यादव समेत विपक्षी दल (फोटो - ANI)

नई दिल्ली:  

मुजफ्फरपुर के बालिका गृह में 34 बच्चियों से यौन शोषण के मामले को लेकर आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने आज दिल्ली के जंतर-मंतर में नीतीश सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया और हल्ला बोलते हुए दोषियों को फांसी देने की मांग की। इस विरोध प्रदर्शन में राहुल गांधी से लेकर अरविंद केजरीवाल और डी राजा से लेकर समाजवादी पार्टी तक के नेता शामिल हुए और तेजस्वी के साथ एकजुटता दिखाई।

बच्चियों से यौन शोषण को लेकर तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर कई संगीन आरोप लगाए। उन्होंने कहा, मुजफ्फरपुर में जो हुआ उससे मेरा खून खौलता है लेकिन बेटियों की बात करने वाले सीएम नीतीश के नाक के नीचे ये होता रहा और वो देखते रहे।

नीतीश पर हमलावर तेजस्वी ने आरोप लगाया कि जिन बच्चियों के साथ रेप हुआ है उन्हें मधुबनी भेज दिया गया है जहां उन्हें बदला भी जा सकता है। इसलिए तेजस्वी ने मांग की है कि बालिका गृह में रह रही बच्चियों को सुरक्षा के लिए दिल्ली लाया जाए।

नीतीश कुमार ने विरोध में शामिल लोगों से पूछा, बच्चियों से रेप के आरोपी ब्रजेश ठाकुर के घर सीएम नीतीश कुमार खाना खाने जा चुके हैं क्या बिहार में आप ऐसा मुख्यमंत्री चाहेंगे जो राज्य को बर्बाद कर दे और बहु-बेटियों की भी सुरक्षा न कर पाए।

और पढ़ें: जंतर-मंतर पर तेजस्वी के विरोध प्रदर्शन में कब क्या-क्या हुआ, पूरी टाइमलाइन

घटना कैसे हुई उजागर

मुजफ्फरपुर आश्रय गृह मामला तब प्रकाश में आया, जब बिहार समाज कल्याण विभाग ने मुंबई के टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज (टीआईएसएस) द्वारा बिहार के सभी आश्रय गृहों का सर्वेक्षण करवाया था, जिसमें आश्रय गृह की बच्चियों के साथ यौन शोषण का मामला सामने आया। इस सोशल ऑडिट के आधार पर मुजफ्फरपुर महिला थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई।

और पढ़ें: तेजस्वी यादव का बीजेपी पर अटैक, कहा-ब्रजेश ठाकुर को छुड़ाने के लिए केंद्रीय मंत्रियों का आया था फोन

नीतीश कुमार ने तोड़ी चुप्पी

शुक्रवार को मुजफ्फरपुर कांड पर पहली बार बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने चुप्पी तोड़ते हुए इसे शर्मनाक बताया। नीतीश कुमार ने कहा कि इस घटना ने शर्मसार किया और पीड़ा पहुंचाई है।

और पढ़ें: मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड पर नीतीश ने तोड़ी चुप्पी, कहा- हम शर्मसार हो गये हैं

उन्होंने बिहार के लोगों को यह भी भरोसा दिलाया कि कोई भी दोषी बख्शा नहीं जाएगा। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सिफारिश के बाद केंद्रीय जांच ब्यूरो ने इस आश्रय गृह दुष्कर्म मामले की जांच अपने हाथों में ले ली। इस मामले को लेकर विपक्ष लगातार नीतीश सरकार पर निशाना साध रहा है।

First Published: Saturday, August 04, 2018 07:50 PM

RELATED TAG: Muzaffarpur Shelter Home, Tejashwi Yadav,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो