Breaking
  • सुप्रीम कोर्ट ने IC 814 कंधार हाईजेक केस में दोषी अब्दुल मोमीन की जमानत याचिका की खारिज
  • SC ने प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के सेक्शन 45 को असंवैधानिक करार दिया
  • पद्मावती को ब्रिटिश सेंसर बोर्ड से मिली मंजूरी, 1 दिसंबर को होगी रिलीज, पढ़ें खबर -Read More »
  • SC में पद्मावती पर नई याचिका दायर, फिल्म को देश के बाहर रिलीज करने पर रोक की मांग
  • त्रिपुरा: पत्रकार हत्या के विरोध में अखबारों ने संपादकीय छोड़ा खाली, पढ़ें खबर -Read More »
  • CM योगी के बयान पर NHRC ने जारी किया नोटिस, मांगा जवाब, पढ़ें खबर -Read More »
  • फॉग और तकनीकी कारणों से 17 ट्रेन देरी से चल रही है, 1 ट्रेन रद्द और 6 के समय में बदलाव

मोदी सरकार की नई पहल, आधार कार्ड बिना नहीं बनेगा ड्राइविंग लाइसेंस

  |  Updated On : September 15, 2017 04:54 PM
आधार कार्ड बिना नहीं बनेगा ड्राइविंग लाइसेंस

आधार कार्ड बिना नहीं बनेगा ड्राइविंग लाइसेंस

नई दिल्ली:  

पैन कार्ड को आधार कार्ड से जोड़े जाने के बाद अब सरकार की योजना ड्राइविंग लाइसेंस को भी इससे जोड़ने की है। केंद्रीय सूचना और प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने शुक्रवार को कहा कि सरकार जल्द ही ड्राइविंग लाइसेंस को आधार कार्ड से जोड़े जाने का काम शुरू करेगी।

प्रसाद ने कहा, 'हम ड्राइविंग लाइसेंस को आधार कार्ड से लिंक करेंगे। धोखाधड़ी रोकने के लिए ट्रांसपोर्ट एंड हाईवे मिनिस्टर नितिन गडकरी से बात हुई है। इसके पहले हम पैन को आधार से जोड़ चुके हैं। इससे मनी लॉन्ड्रिंग पर रोक लगाने में कामयाबी मिली है। आज आधार की डिजिटल आइडेंटिटी से लोगों की फिजिकल आइडेंटिटी आसानी से पता लगाई जा सकती है। डिजिटल गवर्नेंस ही गुड गवर्नेंस है।'

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक केन्द्र सरकार अगले महीने इस प्रस्ताव को अमली जामा पहना सकती है।

ज़ाहिर है सरकार के इस कदम से फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस पर रोक लगेगी। इतना ही नहीं अगर किसी व्यक्ति का ड्राइविंग लाइसेंस किसी वजह से एक बार कैंसिल कर दिया जाता है तो दोबारा वो व्यक्ति किसी फ़र्ज़ी नाम से ड्राइविंग लाइसेंस नहीं बना पाएगा।

डेथ सर्टिफिकेट के लिए आधार कार्ड होगा ज़रूरी, मोदी सरकार का फरमान

क्योंकि आधार कार्ड में आपके सारे बॉयोमैट्रिक डिटेल होती है। इससे सरकारी एजेंसियों के लिए ड्राइविंग लाइसेंस बनाते समय व्यक्ति विशेष के बारे में पता लगाना आसान होगा।

नए नियम के मुताबिक अब ड्राइविंग लाइसेंस के लिए मेडीकल सर्टिफिकेट लगाने की झंझट भी नहीं होगी। लाइसेंस रिन्यू के लिए भी उन लोगों को ही मेडिकल सर्टिफिकेट देना होगा जिनकी उम्र 40 साल से अधिक है।

इस नियम के लागू होने के बाद से आपको लाइसेंस बनवाने के लिए वोटर आईडी, पासपोर्ट, एलआईसी जैसे दस्तावेज जमा नहीं करने होंगे। आपका आधार कार्ड ही काफी होगा।

फिलहाल लर्निंग और परमानेंट लाइसेंस के लिए अलग से आवेदन करना होता है। लेकिन नई व्यवस्था के तहत दोनों लाइसेंस के लिए एक बार ही आवेदन किया जा सकेगा।

उत्तर प्रदेश: कानपुर में फर्जी आधार कार्ड बनाने वाले बड़े गिरोह का खुलासा, 10 गिरफ्तार

RELATED TAG: Driving Licence, Aadhaar, Ravi Shankar Prasad, Nitin Gadkari,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो