डोकलाम में चीनी सैनिक की संख्या में आई कमी: आर्मी चीफ रावत

  |   Updated On : January 13, 2018 06:14 AM

नई दिल्ली:  

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने साफ किया है कि सिक्किम में चीन सीमा से सटे डोकलाम में चीनी सैनिक सीमा पर मौजूद हैं, लेकिन इनकी संख्या में कमी आई है।

सेना दिवस (15 जनवरी) से पहले मीडिया से बातचीत में सेना प्रमुख ने कहा कि डोकलाम में साल 2000 से सड़क निर्माण जारी है, लेकिन चीनी जवान बीते साल जून में भारत-चीन सीमा पर गतिरोध शुरू होने से पहले टोसा बाला के नजदीक आ गए। टोसा बाला उत्तर और दक्षिण डोकलाम को बांटता है। उन्होंने कहा कि चीनी बड़ी संख्या में मजदूरों और उपकरणों के साथ आए थे।

सेना प्रमुख ने कहा, 'हमने महसूस किया कि वे पूरे डोकलाम पर दावा करने की कोशिश करेंगे..इससे हमारे सामने खतरा पैदा कर रहा था और यह यथास्थिति को बदल रहा था।'

जनरल रावत ने कहा कि डोकलाम के उत्तरी हिस्से में चीनी सैनिकों की मौजूदगी जारी है, लेकिन इसमें कमी आई है और सक्रियता के स्तर में भी कमी आई है।

यह भी पढ़ें: चार जजों ने देश से की अपील, सुप्रीम कोर्ट को बचाएं, तभी सुरक्षित होगा लोकतंत्र

सेना प्रमुख ने उत्तर में चीन के साथ देश की सीमा पर ध्यान केंद्रित करने पर बल दिया। सेना प्रमुख ने कहा, 'हमें अब उत्तरी सीमा पर ध्यान केंद्रित करना होगा। हमारा फोकस काफी लंबे समय से पश्चिमी सीमा पर ही रहा है।'

सीमा उल्लंघन और भारत- चीन के जवानों के आमने-सामने आने की घटनाओं के बढ़ने पर उन्होंने कहा कि इसकी संख्या में इसलिए बढ़ोतरी हुई है क्योंकि भारत ने सीमा से लगी अग्रिम चौकियों पर ज्यादा सैनिक तैनात किए हैं।

यह भी पढ़ें: अंतरिक्ष में ISRO की 100वीं छलांग, 31 सेटेलाइट का सफल प्रक्षेपण

RELATED TAG: National Security, Army Chief, General Bipin Rawat,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो