यूपी: फिर फेल हुए मैगी के सैम्पल, कंपनी पर लगा लाखों का जुर्माना

  |   Updated On : November 29, 2017 02:33 AM

नई दिल्ली:  

मैगी की गुणवत्ता पर एक बार फिर सवाल उठे हैं क्योंकि मैगी के सैम्पल एक बार फिर जांच में फेल हो गए है। उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में खाद्य एवं औषधि विभाग ने मैगी के सैम्पल जांच के लिए भेजा। लेकिन मैगी की गुणवत्ता तय मानकों पर खरी नहीं उतरी।

गुणवत्ता में फेल होने के बाद प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए नेस्ले कंपनी समेत डिस्ट्रीब्यूटर और विक्रेताओं पर लाखों का जुर्माना लगाया है।

बताया जाता है कि मैगी सैम्पल फेल होने पर 45 लाख का जुर्माना नेस्ले कम्पनी पर लगाया गया है जबकि डिस्ट्रीब्यूटर समेत छ विक्रेताओं समेत पर 17 लाख का जुर्माना लगाया गया है।

ये भी पढ़ें: पीएम मोदी ने किया हैदराबाद मेट्रो का उद्धाटन, कहा- हमारा उद्देश्य सबका विकास

मैगी उत्पादों की गुणवत्ता को लेकर दो साल पहले देश के विभिन्न राज्यों में संदेह गहराने पर नेस्ले ने वितरकों के जरिए बाजार से मैगी के तमाम उत्पाद वापस मंगा लिए थे। इसके बावजूद यूपी के शहरों में उनकी खुदरा बिक्री जारी रहने पर शासन ने मैगी उत्पादों की सैंपलिंग कराने को विशेष अभियान शुरू कराया था।

ये भी पढ़ें: पीएम मोदी ने किया हैदराबाद मेट्रो का उद्धाटन, कहा- हमारा उद्देश्य सबका विकास

RELATED TAG: Maggie, Shahjahanpur,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो