Breaking
  • यौन अपराध रोकने के लिए महिलाओं को गैजेट्स दिलाए सरकार: मद्रास HC (पढ़ें खबर) -Read More »
  • लश्कर प्रमुख हाफिज सईद ने फिर उगली आग, बोला- भारत से लेंगे पूर्वी पाकिस्तान का बदला
  • गुजरात चुनाव से पहले डरे हार्दिक, बोले- EVM पर सौ फीसदी है शक (पढ़ें खबर) -Read More »
  • जीएसटी परिषद ने ई-वे बिल को लागू करने की दी मंजूरी

केरल के सीएम विजयन ओखी तूफान को 'राष्ट्रीय आपदा' घोषित करने की करेंगे मांग

  |  Updated On : December 03, 2017 07:57 AM
पिनरई विजयन, मुख्यमंत्री, केरल

पिनरई विजयन, मुख्यमंत्री, केरल

नई दिल्ली:  

केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन केंद्र सरकार से 'ओखी तूफ़ान' को 'राष्ट्रीय आपदा' घोषित करने की मांग करेंगे।

विजयन ने शनिवार को इस बारे में ट्विटर पर जानकारी दी और लिखा कि मुख्य सचिव को इस बारे में ज्ञापन बनाने को कहा गया है।

विजयन ने लिखा, 'केरल सरकार केंद्र सरकार से 'ओखी तूफ़ान' को 'राष्ट्रीय आपदा' घोषित करने की मांग करेगी। इस बारे में मुख्य सचिव को पत्र तैयार करने को कहा गया है।'

बता दें कि केरल में शनिवार को चार और मछुआरों के शव बरामद किए गए, जिसके बाद चक्रवात ओखी के कारण मरने वालों की संख्या बढ़कर अब छह हो गई है। जबकि राज्य के 102 मछुआरों के बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं मिली है।

आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, केरल के 37 मछुआरों को संयुक्त अभियान में बचाया गया, जबकि कुछ अन्य अपने आप लौट आए। शनिवार शाम तक, लौटे मछुआरों की कुल संख्या 450 थी, जबकि राज्य के 102 लोगों के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली है। वे अभी भी गायब हैं।

केरल: ओखी तूफान का कहर जारी, 16 लोगों की मौत और अबतक 102 मछुआरे लापता

मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने मीडिया को बताया कि मृत मछुआरों के परिवारों को 10-10 लाख रुपये और घायलों को 20-20 हजार रुपये दिए जाएंगे। और जिन लोगों ने मछली पकड़ने वाले उपकरणों को खो दिए हैं, उन्हें भी मुआवजा दिया जाएगा।

लापता मछुआरों के बारे में पूछे जाने पर, विजयन कोई आंकड़ा देने में असमर्थ थे, लेकिन उन्होंने कहा कि सूचना मिली है कि केरल के कुछ मछुआरे लक्षद्वीप में हैं।

तिरुवनंतपुरम जिला कलेक्टर एस. वासुकी ने मीडिया को बताया कि केरल से 102 मछुआरों को 'लापता' नहीं कहा जा सकता। ये मछुआरे समुद्र में गए थे। वे अभी तक घर नहीं पहुंचे हैं और न ही उन्होंने अपने रिश्तेदारों से संपर्क किया है।

उन्होंने कहा कि उन्होंने सख्त निर्देश जारी किए हैं कि कोई भी मछली पकड़ने के लिए समुद्र में न जाए।

शाह के 'नमूने' शब्द पर मनमोहन सिंह का पलटवार, कहा पीएम से बोलने में कोई प्रतियोगिता नहीं

वासुकी ने कहा, 'हमने उन मछुआरों की टीमों का निर्देश दिया है, जिन्होंने अपने खुद के बचाव कार्य शुरू किए हैं, कि केवल 20 मीटर से लंबी नौकाओं को ही इस्तेमाल करें और समुद्र में दो मील से आगे न जाएं।'

राजधानी में दो स्थानों पर और अलापुझा में एक जगह पर गुस्साए मछुआरों ने 'खराब' बचाव कार्य का विरोध करते हुए राजमार्ग अवरुद्ध कर दिया। मछुआरों ने केरल सरकार को तूफान के बारे में मछुआरों को सूचित नहीं करने के लिए जिम्मेदार ठहराया।

प्रदर्शनकारियों ने कहा, 'जब तमिलनाडु सरकार ने मछुआरों को चेतावनी जारी की, तब हमारी सरकार को क्या हुआ, वह कहां थी?'

लापता मछुआरों के परिवारों ने अब अपने प्रियजनों की तस्वीरें मीडिया को प्रदर्शित करनी शुरू कर दी है, ताकि राज्य के दूसरे हिस्सों को संदेश भेजा जा सके।

शनिवार सुबह, गहरे समुद्र में बारिश और हवा की तीव्रता कम हो गई।

पीएम मोदी के विजन और मनमोहन सिंह की आर्थिक नीतियों के मुरीद बराक ओबामा

हालांकि, मौसम विभाग ने भारी बारिश का अनुमान जाहिर किया है।

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष एम.एम. हसन ने मीडिया से कहा कि विजयन सरकार ने सब कुछ गड़बड़ कर दिया है।

हसन ने कहा, 'चक्रवात की चेतावनी मुख्य सचिव के पास 29 नवंबर को आई थी, जिसे विजयन के कार्यालय को सौंप दिया गया था, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। लेकिन राज्य के पर्यटन मंत्री के. सुरेंद्रन का कहना है कि यह त्रासदी इसलिए हुई, क्योंकि मछुआरों ने चेतावनी को नजरअंदाज कर दिया था। हम जानना चाहते हैं कि किसने और क्या चेतावनी जारी की थी। कोई चेतावनी जारी नहीं की गई थी, क्योंकि विजयन ने कहा है कि उन्हें तूफान के बारे में 30 नवंबर को अपराह्न् पता चला। यह केरल सरकार की तरफ से एक भारी चूक है।'

केरल सरकार ने चक्रवात से प्रभावित मछली पकड़ने वाले गांवों में मुफ्त राशन की आपूर्ति की घोषणा पहले ही कर दी है।

पाकिस्तानः हाफिज सईद ने की घोषणा, साल 2018 में लड़ेगा आम चुनाव

RELATED TAG: Pinarayi Vijayan, Ockhi, Cyclone, Centre,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो